Damoh News : पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भगवान दास चौधरी ने हाथी की सवारी छोड़ थामा कमल का फूल

लोकसभा चुनाव के दौरान इस दलित नेता का भाजपा में आना कई तरह के संकेत दे रहा है। खास तौर पर बुन्देलखण्ड इलाके की बात करें तो इस रीजन में भाजपा की नजर दलित वोट बैंक पर है।

bjp

Damoh News : मध्य प्रदेश में जारी दलबदल के दौर के बीच अब भाजपा ने बीएसपी को बड़ा झटका दिया है। अब दमोह से पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष और दलित नेता भगवान दास चौधरी को भाजपा में शामिल कराया है। रविवार को सागर जिले के बंडा विधानसभा क्षेत्र के शाहगढ़ में आयोजित मुख्यमंत्री मोहन यादव की आमसभा में चौधरी ने भाजपा की सदस्यता ली है। दमोह से भाजपा प्रत्याशी राहुल लोधी ने भगवानदास सहित उनके समर्थकों को भाजपा की सदस्यता दिलाई है।भगवानदास चौधरी के इस निर्णय के बाद दलित वोट बैंक के एक बड़े हिस्से पर असर पड़ने की उम्मीद है।

भाजपा में हुए शामिल

दमोह के जिला पंचायत अध्यक्ष रहे भगवानदास चौधरी मूलतः कांग्रेसी नेता रहे हैं। कांग्रेस में वो बड़े दलित नेता के रूप में जाने जाते रहे हैं, भगवानदास लगातार कई चुनावों से पहले जिले की पथरिया रिजर्व सीट और फिर हुई रिजर्व सीट हटा से कांग्रेस से विधानसभा की टिकिट मांगते आ रहे थे। लेकिन कांग्रेस ने उन पर विश्वास नही किया और साल 2023 में हुए विधानसभा चुनाव के दौर में भगवानदास ने कांग्रेस का दामन छोडकर बहुजन समाज पार्टी का दामन थाम लिया। भगवानदास पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने यकीन किया और उन्हें दमोह जिले की हटा सीट से बीएसपी का प्रत्याशी बनाकर मैदान में उतारा लेकिन भगवानदास का जादू नही चला और वो बुरी तरह से हारते हुए तीसरे नम्बर पर रहे। कांग्रेस से बसपा में गए भगवानदास कुछ ही महीनों तक मायावती के साथ रह पाए और अब उनका नया ठिकाना भाजपा हो गई है।

Continue Reading

About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”