दमोह हत्याकांड: दोस्तों ने ही उतारा मौत के घाट, जूतों की नोक से फोड़ी आंखे

दमोह, डेस्क रिपोर्ट। गाली ने एक युवक की जान ले ली और जान लेने वाले भी दोस्त ही निकले, आरोपी 6 दोस्तों ने अपने ही दोस्त अतुल को इतनी बुरी तरह पीटा कि उसकी आँखें ही फूट गई, और उसकी मौत हो गई, मामला दमोह का है, जहां 23 साल के अतुल तिवारी को 6 दोस्तों ने ही दर्दनाक मौत दी। पहले तो उन्होंने साथ में पार्टी की, लेकिन एक दोस्त को मां की गाली देना अतुल की मौत का कारण बना। सभी ने मिलकर अतुल को अलग-अलग तीन जगह ले जाकर पीटा। उसके मुंह पर जूतों से वार किया। उसे जमकर घसीटा।

विराट-अनुष्का की बेटी को रेप की धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार, गुरूवार को कोर्ट में पेशी

आरोपियों की हैवानियत यहीं नहीं रुकी, उन्होंने अतुल की चलती साँसे देखकर उसे ट्रेन से कटने पटरी पर फेंक दिया। जूते की नोक से आंखें फोड़ दीं। आकाश जैसे-तैसे ट्रैक से तो पलटकर बाहर आ गया, लेकिन अस्पताल में उसकी मौत हो गई। लात-जूतों की पिटाई से मृतक को चोट लगी थी। पीएम रिपोर्ट में भी यह साफ हो गया।

Video : New Zealand की प्रधानमंत्री कर रही थीं लाइव, अचानक बीच में आ गई 3 साल की बेटी

मृतक और छह आरोपी दोस्त थे और रात में साथ बैठकर शराब पी रहे थे। इसी दौरान किसी बात को लेकर मृतक ने एक आरोपी युवक को मां की गालियां दे दी, जिससे गुस्से में आकर सभी आरोपियों ने मिलकर मृतक अतुल तिवारी के साथ मारपीट शुरू कर दी। आरोपियों ने दो-तीन स्थान पर ले जाकर लात-घूसों और बेल्ट से पीटा और फिर उसके कपड़े उतार कर उसे रेलवे ट्रैक पर ले गए, ताकि उसकी मौत को आत्महत्या दिखाया जा सके। आरोपियों ने उसे मृत समझ लिया था, लेकिन कुछ देर बाद मृतक को होश आया तो वह ट्रक से सटे हुए किनारे पहुंच गया। सुबह जीआरपी पुलिस उसे घायल अवस्था में अस्पताल लेकर पहुंची थी, जहां उसकी मौत हो गई थी।

पुलिस ने इस हत्याकांड को सुलझाते हुए बताया कि 6 नवंबर की सुबह फुटेरा रेलवे फाटक के समीप 23 साल का अतुल तिवारी घायल अवस्था में मिला था। मृतक ने अपने छह दोस्तों के साथ समन्ना के समीप एक फार्म हाउस पर शराब पार्टी की थी। वहां से दो दो पहिया वाहन पर सवार होकर सभी नरसिंह मंदिर के समीप पहुंचे और वहां से उनके बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। अतुल ने एक दोस्त को मां की गाली दे दी। इसके बाद आरोपियों ने अतुल को पीटा और एक खंडहर में ले गए। यहां फिर से उसके साथ मारपीट की। आरोपियों को लगा कि यहां कोई उन्हें देख सकता है, इसलिए वह उसे पीछे के रास्ते से रेलवे ट्रैक के समीप ले गए। वहां एक जगह उसके कपड़े उतार कर फेंके और मारते हुए उसे रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया था। पुलिस ने आरोपियो किशन पिता कन्हैयालाल पटेल (27),मोहन पिता बाल चंद पटेल (25), रेचु उर्फ प्रवीण पिता नंदकिशोर रजक (26), तरुण पिता मनोज पटेल (27), घनश्याम पिता राजकुमार खंगार (18),चन्नू उर्फ चरण पिता ज्ञान सिंह खंगार को गिरफ्तार कर लिया है।