MP Election 2023 : नतीजों से पहले प्रहलाद पटेल का बड़ा दावा, मध्यप्रदेश 2003 का इतिहास दोहराएगा, प्रदेश में बनेगी भाजपा की सरकार

Amit Sengar
Published on -
prahlad patel

MP Election 2023 : मध्य प्रदेश में हुए मतदान के बाद अब हर रोज सूबे में सरकार बनने के कयास और चर्चाएं हो रही है तो तमाम सर्वे और मतदान से पहले आये एग्जिट पोल सत्ताधारी भाजपा के लिए अच्छी खबरें देकर नही गए लेकिन भाजपा के दिग्गजों को पूरी उम्मीद है कि फिर एक बार एमपी में कमल खिलने वाला है।

प्रदेश में पूर्ण बहुमत से बनेगी भाजपा की सरकार

केंद्रीय राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल का दावा है कि एमपी 2003 का इतिहास दोहराएगा और प्रदेश में पूर्ण बहुमत से भाजपा की सरकार बनेगी। दमोह जिले के गुबरा में गो अभ्यारण्य की शुरुवात और अन्नकूट कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे मंत्री पटेल ने दावा किया कि प्रदेश का ये चुनाव साल 2003 के चुनाव जैसा है और जिस तरह 2003 में प्रदेश के लोगों ने भारी बहुमत से भाजपा की सरकार बनाई थी वही परिणाम 2023 में आएंगे।

आपको बता दें कि साल 2003 में उमा भारती के नेतृत्व में भाजपा ने कांग्रेस की दस साल पुरानी दिग्विजय सिंह सरकार को उखाड़ फेंका था और उमा भारती मुख्यमंत्री बनी थी। इस बार उमा अलग थलग हैं लेकिन पार्टी की तरफ से प्रहलाद पटेल अघोषित चेहरा माने जा रहे हैं और कयास लगाए जा रहे हैं कि यदि सूबे में भाजपा को बहुमत मिलता है तो प्रहलाद सीएम बनाये जा सकते हैं। इस कयास को इसलिए भी बल मिल रहा है कि पटेल ने प्रदेश में ताबड़तोड़ चुनावी रैलियां की तो चुनाव के बाद वो जमींन पर आकर काम में जुट गए हैं, उन्होंने दमोह जिले के गुबरा में एक बडे गौ अभ्यारण्य की नींव रखी है ओर माना जा रहा है कि उनका काम शुरू हो गया है।

देश मे कांग्रेस बढ़ रही है आत्महत्या की तरफ

कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी पर की गई टिप्पड़ी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है तो इस बीच मोदी सरकार के जलशक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल का बड़ा बयान सामने आया है। मंत्री पटेल के मुताबिक कांग्रेस आत्महत्या की ओर बढ़ रही है। दमोह पहुंचे मंत्री पटेल ने कहा कि इस चुनाव में मर्यादाएँ तार तार हुई हैं और कांग्रेस नेताओं ने जो बयानबाजी की है वो निंदनीय है। पटेल ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसे लोगो से भाषा का उचित इस्तेमाल करने की उम्मीद की जाती है लेकिन बड़े संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों के खिलाफ की गई टिप्पणियाँ अशोभनीय है।

दमोह से दिनेश अग्रवाल की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News