जब तीन बच्चों का पिता बारात लेकर पहुंचा कोर्ट, पत्नी के गले में डाली वरमाला

देवास| मध्य प्रदेश के देवास में जब एक दूल्हा घोड़ी पर बैठकर कोर्ट पहुंचा तो सब हैरान हो गए| यह अनोखी शादी दोबारा हुई, पहली बार की शादी टूटने की कगार पर पहुँच गई तो नेशनल लोक अदालत ने सुलह कराई और एक बार फिर पति पत्नी को एक होने के लिए कोर्ट में ही एक दुसरे को वरमाला पहनाने को कहा और इस पूरे कार्यक्रम की वीडियो रेकार्डिंग भी कराई गई| पति और पत्नी दोनों ने एक दूसरे के गले में वरमाला डाली और फिर अपने तीन बच्चों के साथ वापस घर को चल दिए।

दरअसल, पवन कुमावत और करुणा का 2008 अप्रैल में विवाह हुआ था। दोनों के तीन बच्चे हैं। इसके बाद पति-पत्नी के बीच विवाद होने लगा। सालों बाद जब यह मामला कोर्ट पहुंचा तो न्यायाधीश ने उसे बेहतरीन तरीके से सुलझाया और कोर्ट में ही घोड़ी बुलवाकर तीन बच्चों के पिता को घोड़ी पर बैठा दिया। यहां बारात भी निकाली गई और कोर्ट परिसर में ही बरातियों के स्वागत से लेकर और उनके खाने-पिने की भी व्यवस्था की गई। 

अपनी व्यवाहिक जीवन में दोनों एक दुसरे से खूब झगतड़े थे, दोनों ने एक दूसरे पर कई आरोप भी लगाए। इसके बाद कई बार मध्यस्थता बैठक भी हुई, लेकिन कोई निराकरण नहीं निकला। न्यायालय ने दोनों को एक दूसरे की प्रति नाराजगी भुलाकर फिर से एक होने की सलाह दी।  जिसके बाद पति-पत्नी के बीच की दूरियां हमेशा के लिए खत्म हो गइ और वो फिर एक हो गए।  पति पवन कुशवाह घोड़ी पर बैठकर कोर्ट पहुंचा| पवन की मां ने करुणा को साड़ी भी दी और उन्होंने सभी बातों को भुलाकर एक-दूसरे को वरमाला पहनाई। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here