देवास, सोमेश उपाध्याय। आज आपातकाल (emergency) की वर्षगांठ पर प्रदेशभर में विभिन्न आयोजन कर लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान कर वर्चुअल आयोजन किए।देवास भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव खंडेलवाल द्वारा वर्चुअल मीटिंग भी रखी गई। जिसमे भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री विक्रम वर्मा भी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। बैठक में लोकतंत्र सेनानियों के परिवार ने प्रदेश की बीजेपी सरकार से महत्वपूर्ण मांग करते हुए लोकतंत्र सेनानियों की स्मृति में संघर्ष गाथा को संजोने के लिए सचित्र विवरणिका स्मारिका के रूप में प्रकाशित किए जाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें…नकली किन्नर की वसूली से परेशान असली किन्नर ने सरे राह की पिटाई, बाल भी काटे, थाने पहुंचा मामला

वरिस्ठ अधिवक्ता व मीसाबंदी परिवार के सदस्य प्रवीण चौधरी ने सुझाव देते हुए बताया कि बागली के वरिष्ठ मीसाबंदी स्वर्गीय मोहन लाल सिसोदिया द्वारा मीसाबंदी की जेल अवधि के दौरान जेल डायरी लिखी थी। उसमें उनके द्वारा आपातकालीन अवधि में प्रजातांत्रिक मूल्यों की रक्षा के लिए किए गए प्रयास तत्कालीन कांग्रेसी शासन के अमानवीय अत्याचार, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भाजपा के कार्यकर्ता गण की सैद्धांतिक मूल्य देश भक्ति रोजमर्रा की दिनचर्या आदि बातों को रेखांकित किया है। इसी प्रकार वरिष्ठ मीसाबंदी मांगीलाल परमार, राधेश्याम राठी ने भी जेल अवधि के दौरान विभिन्न जेलों की संघर्ष गाथा के संस्मरण सुनाए। ऐसी स्थिति में उनके संस्मरण संघर्ष गाथा जेल डायरी के सचित्र प्रकाशन किया जाए। उनकी धरोहर को संरक्षित किया जाए ताकि नई पीढ़ी इन से प्रेरणा ले सकें।