Dhar News: महिला को बस में होने लगी प्रसव पीड़ा, ड्राइवर ने पेश की मानवता की मिसाल

इस कदम से महिला को सही वक्त पर सही उपचार मिल सका और उसकी डिलीवरी (delivery) समय पर हो सकी। खुशी की बात ये है कि जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) के धार (dhar) जिले में एक बस ड्राइवर (bus driver) ने अपनी बस में सवार प्रेग्नेंट महिला (pregnant lady) की प्रसव पीड़ा (labour pain) को देखते हुए समझदारी भरा कदम उठाया। उसके इस कदम से महिला को सही वक्त पर सही उपचार मिल सका और उसकी डिलीवरी (delivery) समय पर हो सकी। खुशी की बात ये है कि जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात से एक बस धार आ रही थी। इस बस में बड़वानी की रहवासी अनीता अपने पति के साथ मजदूरी कर के वापस लौट रही थी। बीच रास्ते में ही प्रेग्नेंट अनीता को प्रसव पीड़ा होने लगी। ड्राइवर कैलाश सिसोदिया को जैसे ही इस बात का पता चला उसने तुरंत इस बात की सूचना रिंगनोद के स्वास्थ्य केंद्र में दी। और बस को बिना रुकावट सीधे रिंगनोद स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। यहां अन्य महिला यात्रियों की मदद से अनीता को अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

यह भी पढ़ें… MP Board: 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए जारी हुई नई प्रश्न बैंक, व्हाट्सएप पर होगी उपलब्ध

अब खबर है कि दोनों ही माँ और नवजात दोनों सकुशल हैं। डिलीवरी सही वक्त पर होने की वजह से ऐसा संभव हो सका। अनीता के पति कैलाश ने बताया कि वो बड़वानी जिले के मरदई गांव में रहता है। वो गुजरात में मजदूरी करता है और त्योहार के लिए पत्नी संग घर जा रहा था। उसकी पत्नी को यात्रा के दौरान प्रसव पीड़ा होने लगी जिससे वो बहुत घबरा गया था। लेकिन ड्राइवर की समझदारी और अन्य यात्रियों की मदद से उसकी पत्नी और नवजात शिशु स्वस्थ है। और वो बेहद खुश है।