सीएम शिवराज ने डिंडोरी एसपी को हटाया, नाबालिग छात्राओं से यौन शोषण से जुड़ा है मामला

Atul Saxena
Updated on -

Dindori News : सीएम शिवराज सिंह चौहान ने डिंडोरी एसपी IPS अधिकारी संजय सिंह को हटाने के निर्देश दिए हैं , मुख्यमंत्री डिंडोरी के एक मिशनरीज स्कूल की नाबालिग आदिवासी छात्राओं के साथ यौन शोषण की घटना से नाराज हैं। इस घटना में जिस तरह से पुलिस का व्यवहार सामने आया मुख्यमंत्री ने उस पर कड़ी नाराजगी जताई है।

सीएम ने ट्वीट कर एसपी को हटाने के निर्देश दिए 

चीफ मिनिस्टर एमपी के ट्विटर एकाउंट से ट्वीट किया गया है – “मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विगत दिनों डिंडोरी में मिशनरी स्कूल के छात्रावास में हुए दुखद घटनाक्रम के परिप्रेक्ष्य में डिंडोरी एसपी को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं।”

गृह विभाग ने एसपी संजय सिंह को PHQ भेजा 

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद 2011 बैच के आईपीएस अधिकारी संजय सिंह को डिंडोरी एसपी के पद से हटाकर गृह विभाग ने पुलिस मुख्यालय में सहायक पुलिस महानिरीक्षक बनाकर भेज दिया है। गौरतलब है कि डिंडोरी जिले के जुनवानी गाँव में स्थित JDES मिशनरी हायर सेकेंडरी स्कूल की छात्राओं के साथ पिछले दिनों यौन शोषण का मामला सामने आया था।

मिशनरी स्कूल के प्राचार्य , फादर, शिक्षक और वार्डन पर यौन शोषण के आरोप 

यौन शोषण के आरोप स्कूल के प्राचार्य, पादरी(फादर), एक शिक्षक और वार्डन पर लगे, घटना की जानकारी तब बाहर आई जब एक शिकायत के बाद राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग की टीम ने जांच की और पुलिस को निर्देश दिए, जिसके बाद पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ यौन शोषण , छेड़छाड़ और पास्को एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया।

पुलिस ने प्राचार्य को गिरफ्तार कर तुरंत रिहा कर दिया   

मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने प्राचार्य नान सिंह यादव को गिरफ्तार कर लिया जबकि तीनों अन्य आरोपी पुलिस को चकमा देकर भाग गए, खास बात ये है कि गिरफ़्तारी के कुछ देर बाद ही आरोपी प्राचार्य को समनापुर थाना पुलिस ने नोटिस देकर थाने से ही रिहा कर दिया।

वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर थाना प्रभारी निलंबित 

पुलिस की इस कार्यवाही की भनक बाहर आई तो लोगों ने विरोध किया, बाल संरक्षण आयोग ने भी आपत्ति जताई, मामला पुलिस के आला अधिकारियों तक पहुंचा और फिर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर प्राचार्य नान सिंह यादव को रिहा करने वाले थाना प्रभारी विजय पाटले को निलंबित कर दिया गया। पुलिस ने आरोपी प्राचार्य को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जिसे कोर्ट ने जेल भेज दिया।

एसपी ने थाना प्रभारी की कार्यवाही को सही ठहराया था 

खास बात ये है कि जब थाना प्रभारी ने प्राचार्य को सामान्य धाराओं का हवाला देकर पुलिस थाने से रिहा कर दिया था तब एसपी संजय सिंह ने थाना प्रभारी की कार्यवाही की जायज बताते हुए इसे कानून सम्मत भी बताया था, इस पूरे घटनाक्रम के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से बात की और पुलिस की लापरवाहीपूर्ण कार्यशैली पर नाराजगी जताई और आज सीएम शिवराज ने डिंडोरी एसपी संजय सिंह को वहां से हटाने के निर्देश दे दिए।

 

सीएम शिवराज ने डिंडोरी एसपी को हटाया, नाबालिग छात्राओं से यौन शोषण से जुड़ा है मामला

डिंडोरी से प्रकाश मिश्रा की रिपोर्ट 

 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News