ऊर्जा मंत्री के शहर में जलाये बिजली के बिल, कांग्रेस ने लगाए विश्वासघात के आरोप

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मध्य प्रदेश सरकार ने जनता के साथ धोखा किया है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कांग्रेस (Congress) ने मध्य प्रदेश सरकार पर बिजली बिल (Electricity Bill) के नाम पर गरीबों के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस नेताओं ने बिजली के बिलों को जलाकर अपना आक्रोश जताया और चेतावनी दी कि जब तक सरकार बढे हुए बिजली के बिल वापस नहीं लेती विरोध जारी रहेगा।

ऊर्जा मंत्री के शहर में जलाये बिजली के बिल, कांग्रेस ने लगाए विश्वासघात के आरोप

मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar)  के गृह जिले में उनकी ही विधानसभा में कांग्रेस ने आज गुरुवार को बिजली के बिलों के साथ विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेताओं ने प्रदेश महासचिव सुनील शर्मा के नेतृत्व में   हजीरा चौराहे पर बिजली के बिलों के साथ प्रदर्शन किया।

ये भी पढ़ें – परेशान श्रमिकों ने किया चक्काजाम, आत्मदाह और चुनाव बहिष्कार की दी चेतावनी

कांग्रेस प्रदेश महासचिव सुनील शर्मा ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार ने प्रदेश की जनता के साथ विश्वासघात किया है। उप चुनाव में कहा था कि कोरोना काल के बिजली के बिल माफ़ कर दिए गए हैं लेकिन ऐसा नहीं हुआ।  आज वही कोरोना काल के बिल की वसूली की जा रही है।

ये भी पढ़ें – ठगों का मददगार बैंक कर्मचारी पुलिस गिरफ्त में, 1 करोड़ से ज्यादा का लोन निकालने की थी योजना

कांग्रेस नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर इसके बाद भी चुप हैं।  ये जनता के साथ धोखा है अन्याय है।  झूठ बोलकर जनता से वोट वसूले हैं।  कांग्रेस का एक एक कार्यकर्ता इसक अविरोध करता है।  उन्होंने चेतावनी दी कि जब तक कोरोना काल के बढ़े हुए बिजली के बिल माफ़ नहीं होते कांग्रेस विरोध जनता की लड़ाई लड़ती रहेगी।