शराब का अवैध काम करने वाले युवक की ज़हर खाने से हुई मौत, परिजनों ने पुलिस पर उठाए सवाल, जानें पूरा मामला

मामले में पुलिस ने पूछताछ के लिए एक युवक को बुलाया था जिसकी चौकी में तबियत बिगड़ने से उसे अस्पताल भिजवाया, जहां उसकी मौत हो गई। मामले में परिजनों ने पुलिस पर सवाल खड़े कर दिये है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर के एरोड्रम थाना क्षेत्र के बांगड़दा इलाके में स्थित पैराडाइज पब एंड बार में जहरीली शराब से हुई मौतों की जांच के मामले में पुलिस लगातार काम कर रही है। पुलिस अवैध शराब का काम करने वालों की धरपकड़ के साथ पूछताछ कर रही है। ऐसे ही पूछताछ के मामले ने उस वक्त तूल पकड़ लिया जब पुलिस थाने में ही पूछताछ के लिए बुलाये युवक की हालत खराब हो गई। जिसके बाद पुलिस ने युवक के परिजनों को बुलवाकर उसे अस्पताल भिजवाया। जहां उसकी मौत हो गई इसके बाद मृतक के परिजन पुलिस की कार्यप्रणाली सवाल उठा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- डिप्रेशन को हरा कमलप्रीत कौर ने रचा टोक्यो ओलंपिक में इतिहास, गोल्ड से बस एक कदम दूर

दरअसल, पूरा मामला इंदौर के द्वारकापुरी थाना क्षेत्र का है जहां विदुर नगर में रहने वाले राहुल पिता विजय बोराडे को पैराडाइज बार मामले में पूछताछ के लिए पुलिस ने तलाशना शुरू किया। पुलिस उसके घर गई तो पता चला कि शुक्रवार को उसके पिता का निधन के बाद तीजे के कार्यक्रम के तहत वो अस्थि विसर्जन के लिये बड़वाह के खेड़ीघाट नर्मदा किनारे गया हुआ था।

https://vimeo.com/581503577

मृतक राहुल के भाई रोहित बोराडे ने बताया कि उसका भाई थाने में पेश हो गया और उसके बाद थाने से ही फोन आया कि- उसे आकर अस्पताल ले जाओ उसने जहर खा रखा है। इधर, मृतक के मामा जितेंद्र ने पुलिस पर सवाल उठाए और कहा कि द्वारकापुरी पुलिस का पूरा बल उनके घर आया और तेहरवीं में शामिल मेहमानों को थाने ले गया। वहीं गर्भवती महिलाओं के साथ भी पुलिस ने अभद्रता की है। उन्होंने बताया कि राहुल 2 साल पहले ही शराब संबंधी काम छोड़ चुका था इसके बावजूद उसे थाने बुलाया गया। उसने जहर कब खाया या किसने दिया इस बात की जानकारी उन्हें नहीं है। वहीं परिजनों ने छत्रीपुरा थाना पुलिस पर इस ममाले मे क्यों कार्रवाई कर रही है इसका आरोप लगाया। मामले में पुलिस परिजनों से कह रही है- यदि वो शव अस्पताल से नहीं ले जाते हैं तो पुलिस ही उसका अंतिम संस्कार कर देगी।

इसे भी पढ़ें- सीएम शिवराज को मान्या ने बताया ‘क्या है उसकी सफलता का राज’, वीडियो कॉन्फ्रेंस में हुई रूबरू

इधर युवक के परिजनों ने पुलिस पर प्रताड़ना के आरोप लगाए हैं। परिजनों ने बताया कि युवक कुछ साल पहले तक अवैध शराब का धंधा करता था, लेकिन अब वह सुधर गया था। बता दें, राहुल की मौत जहर खाने से संदेहास्पद हालत में बनी हुई है। उसे पुलिस एरोड्रम के जहरीली शराब कांड का मुलजिम मानकर जांच कर रही थी। इसी के चलते उसके घर पर दबिश दी गई थी।

ये भी पढे़ं- MP College: 24 घंटे में उच्च शिक्षा विभाग ने वापस लिया आदेश, मंत्री ने कमिश्नर को दिए ये निर्देश

इस मामले पर छत्रीपुरा थाने के जांच अधिकारी ने बताया कि बंटी उर्फ राहुल नामक युवक ने कल महू नाके पर जहर खा लिया था। बाद में सूचना मिली थी कि वो चोइथराम अस्पताल में एडमिट हो गया है जिस पर थाना छत्रीपुरा में मर्ग कायम कर जांच की जा रही है। पुलिस ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर ये पता चला है कि मृतक शराब के धंदे में लिप्त था। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।  राहुल बोराडे की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के साथ ही कई सवाल पुलिसिया कार्रवाई पर उठ रहे हैं। फिलहाल, 11 आपराधिक वारदातों में शामिल राहुल की मौत को लेकर इंदौर पुलिस पर बड़ा बवाल खड़ा हो गया है।