बड़वानी, बाबुलाल सारंग। एक पिता ने घरेलू विवाद के चलते अपने ही तीन वर्षीय बालक को गुमशुदा बच्चा बताकर थाने में पहुंचा दिया था। जिसके बाद चाइल्डलाइन (Childline) के काउसंलरो ने मासूम को दोबारा परिवार के पास पहुंचाया और वहीं पालको को भी उचित समझाइश भी दी गई।

यह भी पढ़ें…MP Police: 31 मार्च से 700 थानों में शुरु होगी ये सुविधा, इस स्तर के पुलिसकर्मी होंगे शामिल

दरअसल, होली के दिन बड़वानी के पुलिस थाना से पूर्व बालकल्याण पुलिस अधिकारी आर. सी. चैहान ने चाइल्डलाइन को कॉल कर सूचना दी गई कि एक व्यक्ति 3 वर्षीय गुमशुदा बालक को थाने पर लेकर आया है। जिस पर से बच्चे को पुलिस द्वारा अपनी अभिरक्षा में लिया गया है। इस पर बच्चे को चाइल्ड लाइन कार्यालय लाकर टीम द्वारा खेल-खेल में बच्चे की काउंसलिंग कर उसके माता-पिता व गृह निवास का पता जानने की कोशिश की गई । जिसमें सफलता मिलने पर चाइल्ड लाइन टीम ने समग्र पोर्टल पर बच्चे के पिता एवं गांव को सर्च कर संबंधित ग्राम पंचायत सचिव से जानकारी ली। जिसमें संबंधित बच्चे के पालक गांव के ही निवासी निकले और जो व्यक्ति थाने में बच्चे को गुमशुदा बताकर लाया था, वहीं बच्चे के पिता निकला, जो अपनी पत्नी के छोड़े जाने पर परेशान होकर अपने पुत्र को थाने में लावारिस बताकर पुलिस थाने में छोड़ गया था। जिसके बाद चाइल्ड लाइन टीम द्वारा परिवार वालो को बुलाकर बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत और उनकी काउसंलिंग की गई साथ ही बची के परिवार वालों की सहमति पर बालक को उनके सुपुर्द किया गया है। और समझाइश भी दी गई।

यह भी पढ़ें…Electricity Bill: MP के उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी, 1 अप्रैल से मिलेगी यह सुविधा