ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कोरोना संक्रमण (Corona Infection) को लेकर ग्वालियर (Gwalior) के भाजपा सांसद(BJP MP) और जिला अध्यक्ष कितने गंभीर हैं इसकी तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं हैं। वायरल तस्वीरों और वीडियो में सांसद और भाजपा जिला अपनी पार्टी के नेताओं के साथ एक भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल हैं। तस्वीरों और वीडियो में कोरोना गाइड लाइन (Corona Guide Line) का खुलेआम उल्लंघन हो रहा है, ना सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) है ना सभी लोग मास्क (Mask) लगाए हैं। भाजपा BJP) के अलावा कांग्रेस (Congress) की भी एक ऐसी ही डरावनी तस्वीर सामने आई है जिसमें कांग्रेसी कोरोना से बेख़ौफ़ होकर  जगजीवन राम जी को श्रद्धांजलि देने इकठ्ठा हुए हैं।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित सरकार के मंत्री वरिष्ठ भाजपा नेता जहाँ लोगों को कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से बचाने के लिए मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने सहित कोरोना गाइड लाइन का पालन करने की अपील कर रहे हैं वहीँ ग्वालियर (Gwalior) में इसका उलट हो रहा है। ग्वालियर (Gwalior) में सत्ताधारी दल भाजपा के नेता कोरोना के नियमों की खुलेआम धज्जियाँ उड़ा रहे हैं और भूमिपूजन कार्यक्रम में भीड़ जुटा रहे हैं।

ये भी पढ़ें – CM शिवराज ने कहा- मैं भी वालंटियर, कोरोना वालंटियर अभियान आज से शुरू

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुंगावली और पोहरी में आज सोमवार 5 अप्रैल को प्रस्तावित नल जल योजना शुभारम्भ का सरकारी कार्यक्रम पिछले दिनों इसलिए रद्द कर दिया कि वहां भीड़ जुटेगी और संक्रमण का खतरा बढ़ेगा लेकिन ग्वालियर (Gwalior) के भाजपा नेताओं ने इससे कोई सीख नहीं ली। सोशल मीडिया पर ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र में स्थित थाटीपुर अस्पताल में आयोजित एक भूमिपूजन कार्यक्रम की कुछ तस्वीरें और वीडियो वायरल हुए हैं जिसमें ग्वालियर (Gwalior) के भाजपा सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी, पूर्व विधायक भाजपा नेता मुन्नालाल गोयल सहित कई पदाधिकारी, कार्यकर्ता भीड़ के साथ मौजूद हैं इनके बीच न तो सोशल डिस्टेंसिंग है और बहुत से लोग तो मास्क भी नहीं लगाएलेकिन इस सबसे बेफिक्र नेताजी कोरोना के खतरे के बीच भूमिपूजन कार्यक्रम में व्यस्त हैं।

Gwalior News: जनता भीड़ करे तो जुर्माना, नेताजी को फूलमाला, प्रशासन का दोहरा मापदंड चर्चा में Gwalior News: जनता भीड़ करे तो जुर्माना, नेताजी को फूलमाला, प्रशासन का दोहरा मापदंड चर्चा में

ऐसा नहीं है कि  ग्वालियर में (Gwalior) सिर्फ सत्ताधारी दल को ही कोरोना का डर नहीं है मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के नेता भी बाहुबली हैं वे भी कोरोना से नहीं डरते। आज 5 अप्रैल को पूर्व उप प्रधानमंत्री बाबू जगजीवन राम जी की जयंती पर कांग्रेस ने नेता भारी भीड़ के साथ उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने गए। सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को ताक पर रखकर नेता बाबू जगजीवन राम जी की मूर्ति के नीचे फोटोसेशन कराते दिखाई दिए। इस भीड़ में जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा  शर्मा, एपेक्स बैंक के पूर्व चेयरमैन प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक सिंह, प्रदेश महासचिव सुनील शर्मा सहित पार्टी के कई  पदाधिकारी और नेता मौजूद  रहे।

Gwalior News: जनता भीड़ करे तो जुर्माना, नेताजी को फूलमाला, प्रशासन का दोहरा मापदंड चर्चा में

तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर जारी होने के बाद प्रशासन के दोहरे मापदंड को लेकर चर्चा शुरू हो गई है, सोशल मीडिया पर लोग चर्चा कर रहे हैं कि यदि एक सामान्य व्यक्ति बिना मास्क के निकले तो जुर्माना, वो भीड़ जुटाए तो जुर्माना और नेताजी भीड़ जुटाएं तो फूलमाला।  इनपर जुर्माना क्यों नहीं होता? क्या नेताओं द्वारा जुटाई जा रही भीड़ कोरोना संक्रमण ना फैलने की ग्यारंटी है या नेताओं से वाकई कोरोना डरता है? लोग तो यहाँ तक कह रहे हैं कि फोटो से चिन्हित कर नेताओं के घर जुर्माने की पर्ची भेजो और जुर्माना वसूलो। कुल मिलाकर इस तरह भीड़ जुटाकर मनाही के बाद भी धारा 144 के बीच सरकारी आयोजन करना या किसी महापुरुष को श्रद्धासुमन अर्पित करना शहर को खतरे की तरफ धकेलने से कम नहीं दिखाई देता।  इस आदत पर सख्ती से रोक लगना जरूरी है।