Gwalior News- गर्ल्स कॉलेज के प्रोफेसर पर यौन प्रताड़ना के आरोप, ये है पूरा मामला

कांग्रेस महासचिव ने कलेक्टर के नाम सौंपे ज्ञापन में छात्रा द्वारा की गई रिकॉर्डिंग और अन्य साक्ष्य देकर चेतावनी दी है कि 7 दिनों में यदि कार्रवाई नहीं की गई तो कांग्रेस चरणबद्ध आंदोलन करेगी।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्यप्रदेश के सबसे पुराने और सबसे बड़े गर्ल्स कॉलेज (Girls college) में पढ़ाने वाले एक प्रोफेसर पर कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा ने यौन प्रताड़ना (Sexual Harassment) का गंभीर आरोप लगाया है वहीं दूसरे प्रोफेसर पर कॉलेज में कार्यरत एक महिला कर्मचारी (Female Staff)ने प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

ग्वालियर का कमलाराजे कन्या स्वशासी महाविद्यालय (KRG College) प्रदेश का सबसे पुराना और सबसे बड़ा गर्ल्स कॉलेज (Girls college)  है यहाँ विभिन्न विभिन्न विषयों में करीब 12000 छात्राएं पढ़ती हैं। हालांकि परीक्षा परिणाम और अन्य गतिविधियों को लेकर ये कॉलेज प्रदेश में चर्चा में रहता है लेकिन इस बार ये अलग कारण से चर्चा में है। इस बार ये कॉलेज के दो पुरुष प्रोफेसरों के कारण चर्चा में। इन प्रोफेसरों पर गंभीर आरोप लगे है खास बात ये है कि आरोप कॉलेज में पढ़ने वाली एक छात्रा और महिला कर्मचारी ने लगाए हैं। इन आरोपों को लेकर कांग्रेस मुखर हो गई है । कांग्रेस ने दोनों प्रोफेसरों के खिलाफ कार्रवाई के मांग को लेकर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है।

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी (MP Congress Committee) के महासचिव राघवेंद्र शर्मा ने कलेक्टर के नाम सौंपे ज्ञापन में कहा कि कॉलेज में पढ़ने वाली बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्रा को कॉलेज के कॉमर्स के प्रोफेसर डॉ एच बी प्रजापति द्वारा 2017 में यौन संबंध बनाने का अनुरोध किया गया बदले में उसे पास करने का प्रलोभन दिया गया। छात्रा द्वारा विरोध करने पर उसे मानसिक प्रताड़ित किया गया बाद में छात्रा ने प्रोफेसर प्रजापति से बात कर उनकी पूरी अश्लील बातों को रिकॉर्ड कर लिया। दूसरा प्रकरण कॉलेज में कार्यरत महिला कर्मचारी से जुड़ा है। ये महिला कम्प्यूटर ऑपरेटर है। महिला कर्मचारी ने इतिहास के प्रोफेसर डॉ संजय स्वर्णकार पर उसे लगातार प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं। महिला कर्मचारी ने इस बात की शिकायत कॉलेज की आंतरिक परिवाद समिति के समक्ष 12/4/2019 को की। नियमनुसार शिकायत आने पर आंतरिक परिवाद समिति 90 दिन में फैसला देती है लेकिन आज तक कोई फैसला नहीं दिया गया।

कांग्रेस प्रदेश महासचिव ने कहा कि इन दो प्रोफेसरों पर कार्रवाई नहीं होने से छात्राओं और महिला कर्मचारियों में भय का माहौल है वहीं दूसरे पुरुष प्रोफेसरों की हिम्मत खुली हुई है वो किसी भो छात्रा या महिला कर्मचारी के साथ अमर्यादित व्यवहार करने से नहीं हिचकते। कांग्रेस नेता ने कहा कि यदि कोई इन प्रोफेसरों की शिकायत करता है तो उसे झूठे प्रकरण में फंसाकर नौकरी से हटाने की धमकी दी जाती है और हटवा दिया जाता है। कॉलेज के कर्मचारी विकास दुबे को भी षड्यंत्रपूर्वक फंसाकर ये लोग नौकरी से बर्खास्त करवा चुके हैं। कांग्रेस महासचिव ने कलेक्टर के नाम सौंपे ज्ञापन में छात्रा द्वारा की गई रिकॉर्डिंग और अन्य साक्ष्य देकर चेतावनी दी है कि 7 दिनों में यदि कार्रवाई नहीं की गई तो कांग्रेस चरणबद्ध आंदोलन करेगी।