Gwalior News: विश्व जल दिवस पर मंत्री पहुंचे वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, अफसरों को निर्देश, गर्मी में नहीं हो पेयजल की समस्या

ऊर्जा मंत्री ने निर्देश दिये कि 15 अप्रैल तक इस प्लांट से लोगों को शुद्ध पेयजल मिलना शुरू हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं नहीं चाहता कि गर्मी में शहर का कोई भी नागरिक पेयजल के लिए परेशान हो।

gwalior, water treatment plant

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। प्रदेश सरकार (state government) के ऊर्जा मंत्री (energy minister) प्रद्युम्न सिंह तोमर को विश्व जल दिवस (world water day) पर गर्मी में हर साल होने वाली पेयजल समस्या (drinking water scarcity) की याद आई और उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को साथ लेकर जलालपुर क्षेत्र में बन रहे वाटर ट्रीटमेंट प्लांट (water treatment plant) का निरीक्षण (inspection) किया। ऊर्जा मंत्री ने निर्देश दिये कि 15 अप्रैल तक इस प्लांट से लोगों को शुद्ध पेयजल मिलना शुरू हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं नहीं चाहता कि गर्मी में शहर का कोई भी नागरिक पेयजल के लिए परेशान हो।

gwalior, water treatment plant

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा एवं भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी के साथ जलालपुर स्थित वाटर ट्रीटमेंट प्लांट पर पहुंचे। निरीक्षण के दौरान उन्होंने वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के कार्यों की समीक्षा करते हुए नगर निगम के अधिकारियों से सवाल किया कि इस प्लांट से हम शहर को कब तक पानी देने लगेंगे तथा इस प्लांट से किस-किस जगह पानी सप्लाइ किया जाएगा। इस पर अधीक्षण यंत्री आर. एल. एस मौर्य ने जवाब दिया कि 20 अप्रैल तक हम प्लांट से पानी सप्लाइ कर टंकियों में भरने लगेंगे। उन्होंने बताया कि इस प्लांट से ग्वालियर विधानसभा और मुरार विधानसभा में पानी दिया जाएगा। मौर्य की बात सुनने के बाद ऊर्जा मंत्री ने कहा कि 15 अप्रैल तक इस प्लांट से शुद्ध पेयजल की सप्लाई शुरू हो जानी चाहिए।

यह भी पढ़ें… Indore News: टिम्बर मार्केट में लगी भीषण आग, लाखों के माल का हुआ नुकसान

 

वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के साथ ही ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने जलालपुर में ही स्थित न्यू सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि गंदे पानी को साफ कर सिंचाई के लिए उपयोग किया जा रहा है। जल का पुनः सदुपयोग जल संरक्षण के हित में है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि हर सफ्ताह ट्रीटमेंट प्लांट पर किये जा रहे कार्यो की समीक्षा रिपोर्ट मुझे दी जाए। है। जल का पुनः सदुपयोग जल संरक्षण के हित में है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि हर सफ्ताह ट्रीटमेंट प्लांट पर किये जा रहे कार्यो की समीक्षा रिपोर्ट मुझे दी जाए।