भोपाल-इंदौर के बाद ग्वालियर में सख्ती, मंत्री के निर्देश- 31 तक कोरोना मुक्त हो जिला

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। इंदौर-भोपाल (Indore-Bhopal) के बाद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर (Gwalior) में भी सख्ती करने का फैसला लिया गया है, ताकी संक्रमण पर तेजी से रोक लगाई जा सके। ऊर्जा मंत्री और कोरोना प्रभारी मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अधिकारियों को साफ निर्देश दिए है कि 31 मई तक जिले में लगाए गए जनता कर्फ्यू का पूरी सख्ती से पालन हो, ताकि कोरोना संक्रमण की दर शून्य की जा सके। ग्वालियर जिले को 31 मई तक कोरोना मुक्त जिला बनाने के लिये हमें हर संभव प्रयास करने की जरूरत है।

यह भी पढ़े.. VIDEO: कमलनाथ के समर्थन में उतरे जयवर्धन सिंह, शिवराज के खिलाफ खोला मोर्चा

आज रविवार ग्वालियर में जिले के अधिकारियों से चर्चा करते हुए ऊर्जा मंत्री और कोरोना प्रभारी मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर कम जरूर हुई है, लेकिन अभी भी जिन स्थानों पर कोविड पॉजिटिव मरीज हैं, उन क्षेत्रों को हॉट स्पॉट मानकर कोविड गाइड-लाइन का सख्ती से पालन कराया जाए।  शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिये विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। टीकाकरण कार्य को अभियान के रूप में चलाकर सभी लोगों का टीकाकरण कराया जाए।

यह भी पढ़े.. सीएम शिवराज सिंह बोले- पॉजिटिविटी रेट हो रहा कम, कोरोना समाप्ति तक चैन से नहीं बैठेंगे

प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि किल कोरोना-3 अभियान के तहत शत-प्रतिशत घरों तक दल पहुँचे और सर्वेक्षण का कार्य हो। सर्वेक्षण के आधार पर जिन लोगों को दवाएँ उपलब्ध कराई जाना है, वह भी समय पर उपलब्ध कराई जायें। होम क्वारेंटाइन लोगों से भी नियमित संवाद हो, यह व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।किल कोरोना-4 अभियान भी पूरे प्रदेश में चलाया जायेगा। इस अभियान की रूपरेखा भी अभी से बना ली जाये। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय की चुनौतियों के साथ-साथ हमें भविष्य की चुनौतियों के लिये भी तैयार रहना होगा। इसके लिये अभी से रणनीति तैयार कर उस पर अमल प्रारंभ करने की आवश्यकता है।

भविष्य की चुनौतियों के लिए प्लान तैयार- कलेक्टर

इस दौरान बैठक में ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह (Gwalior Collector Kaushalendra Vikram Singh) ने कहा कि जिले में वर्तमान परिस्थितियों के साथ-साथ भविष्य की चुनौतियों के लिये भी पूरा प्लान तैयार किया गया है। जिले में दो-ढाई हजार बेड की व्यवस्था करने की कार्रवाई की जा रही है। इसके साथ ही ऑक्सीजन, आईसीयू एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं पर भी पूरी प्लानिंग कर कार्रवाई की जा रही है।शहरी क्षेत्र के साथ-साथ डबरा, भितरवार व घाटीगाँव में भी ऑक्सीजन लाइन बिछाने की व्यवस्था की जा रही है। शहर में भी 500 बिस्तर का नया अस्पताल बनाने की स्वीकृति के साथ-साथ अन्य उपलब्ध अस्पतालों में भी बेड की वृद्धि करने की कार्रवाई भी की जा रही है।

पुलिस लगातार कर रही है निगरानी- एसपी

ग्वालियर एसपी अमित सांघी (Gwalior SP Amit Sanghi)ने कहा कि पुलिस विभाग (Police Department) के माध्यम से जनता कर्फ्यू का पालन सुनिश्चित करने के लिये नियमित कार्रवाईयाँ की जा रही हैं। बिना मास्क के घूमने वालों के विरूद्ध चालान करने के साथ-साथ बिना किसी काम के शहर में घूमने वालों के विरूद्ध भी पुलिस कार्रवाई कर रही है। शहर में जिन स्थानों पर हॉट स्पॉट होने के कारण बेरीकेटिंग की गई है, वहाँ पर भी पुलिस विभाग की ओर से निगरानी कर लोगों के आने-जाने को प्रतिबंधित किया गया है। शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी पुलिस विभाग पूरी सक्रियता के साथ कार्य कर रहा है।

गौरतलब है कि पिछले 24 घंटे में पूरे प्रदेश में 3375 नए केस सामने आए है और 75 ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वही पिछले 24 घंटे में ग्वालियर में 110 केस सामने आए है और 7 की मौत हो गई। इसके बाद एक्टिव केसों की संख्या 4644 पहुंच गई है। इधर, प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 57766 पहुंच गई है।