बदलाव- कुछ ऐसे मनाया साल का पहला दिन, गौशाला में गुड़ और चुनी लेकर पहुंचे युवा

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। अंग्रेजी कैलेंडर के नये साल में आमतौर पर जहाँ युवा होटल, पब, क्लब की तरफ भागते हैं वहीं ग्वालियर में ऋषीश्वर समाज के युवाओं ने एक अलग ही उदाहरण पेश किया। युवाओं ने नये साल का जश्न गौशाला में मनाया।

ऋषीश्वर् समाज के युवा साल के पहले दिन लाल टिपारा स्थित आदर्श गौशाला पहुंचे, जहां गायों के लिए दो बोरी चुनी और गुड़ का दानकर अनुकरणीय पहल की। यहां ऋषभानंद महाराज ने सभी को गौशाला का भ्रमण कराया, साथ में गए बच्चों ने भी गौसेवा के इस अनूठे प्रकल्प को देएकर खूब एन्जॉय किया। ऋषभानंद महाराज ने इस दौरान बताया कि कैसे वहां 7 हजार गौवंश का सफलता पूर्वक पालन पोषण किया जा रहा है। भीषण सर्दी में भी गायों को बचाने के लिए बेहतर इंतजाम किए गए हैं। गायों की नस्ल गुणवत्ता के लिए भी यहां निरन्तर प्रयास हो रहे हैं। महाराज ने बताया कि शासन प्रशासन का सहयोग रहा तो आदर्श गौशाला सीएनजी प्लांट लगाकर आत्मनिर्भर बन देश के समक्ष एक उदाहरण पेश करेगी। उन्होंने गाय के गोबर से गौकाष्ठ बनाने, गोबर गैस से गौशाला के लिए उर्जा उत्पन्न करने के साथ यह भी बताया कि कैसे हजारों गायों के लिए आहार तैयार किया जाता है। इस मौके पर संजीव शर्मा, रमेश शर्मा, अनिल शर्मा, सुमंत शर्मा, रामवीर शर्मा, गिर्राज दुबे, श्याम पांडे, नेत्रपाल भदौरिया आदि लोग मौजूद रहे।

बदलाव- कुछ ऐसे मनाया साल का पहला दिन, गौशाला में गुड़ और चुनी लेकर पहुंचे युवा