कांग्रेस विधायक का ऐतिहासिक फैसला, गरीब बच्चो के लिए दान करेंगे आधी सैलरी

Congress-MLA's-historic-decision-will-be-donated-to-poor-children

ग्वालियर। जनप्रतिनिधि शब्द का अर्थ होता हैं जनता का प्रतिनिधि । लेकिन आज की इस अवसरवादी राजनीति में बहुत कम ही नेता होते हैं जो सही मायने में जनता की सेवा कर अपने दायित्व को निभाते हैं । लेकिन एक विधायक ऐसे हैं जिन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र के गरीब और आर्थिक तंगी झेल रहे परिवारों के बच्चों के लिए नई पहल करते हुए “विधायक स्टेशनरी बैंक” खोलने की घोषणा  की है।  विधायक प्रवीण पाठक ने आज गजराराजा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में इसकी विधिवत शुरुआत की।  । शुभारंभ कार्यक्रम में बोलते हुए विधायक श्री पाठक एक और घोषणा की उन्होंने कहा कि मुझे शासन से प्रतिमाह जो सैलरी मिलती है उसका आधा हिस्सा गरीब और वंचित बच्चों के लिए खोले गए विधायक स्टेशनरी बैंक को प्रतिमाह दान करेंगे। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो स्टेशनरी के साथ-साथ गरीब बच्चों की स्कूल की फीस भी वही देंगे लेकिन किसी भी स्थिति में आर्थिक तंगी के कारण गरीब बच्चों की पढ़ाई में रोड़ा नहीं आने देंगे। 

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक प्रवीण पाठक ने टीचर्स से कहा कि हमें मिलकर प्राइवेट स्कूल और शासकीय स्कूल के बीच का अंतर खत्म करना होगा और ऐसा समर्पण दिखाना होगा जिससे कि बच्चों के माता-पिता प्राइवेट स्कूल की जगह शासकीय स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के लिए प्राथमिकता दें। उन्होंने  कहा कि अभी तक मैंने सैलरी में से एक भी रुपया खर्च नहीं किया है मैंने अपने मन में ऐसा संकल्प लिया है कि यह पैसा मैं जन सेवा में ही लगाऊंगा । पूरी सैलरी का आधा पैसा विधायक स्टेशनरी बैंक को दूंगा जिससे कि इस योजना को कभी लकवा ना मारे अथवा यह योजना  कभी बंद न हो यह योजना आगामी 50 वर्षों तक भी चलती रहेगी।  श्री पाठक ने कहा कि कुछ दिनों में ही एक बड़ा कार्यक्रम विधायक स्टेशनरी बैंक के बैनर तले किया जाएगा इसमें दक्षिण विधानसभा के सभी  स्कूलों के प्राचार्य एवं सभी सामाजिक संस्थाएं भागीदारी करेंगीं जिससे कि विधायक स्टेशनरी बैंक को सुचारू रूप से चला कर वंचितों और गरीब बच्चों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाया जाए। इस अवसर पर उपस्थित बच्चों से उन्होंने कहा कि मैं विधायक रहूं या ना रहूं हमेशा आपके साथ खड़ा रहूंगा, आपकी आर्थिक स्थिति पढ़ाई में कभी रोड़ा नहीं बनेगी। विधायक श्री  पाठक  ने इस अवसर पर घोषणा की, कि जल्दी ही वह  उन गरीब बच्चों के लिए फ्री कोचिंग की व्यवस्था भी करेंगे जिनके माता-पिता कोचिंग की फीस दे��े में असमर्थ है । उन्होंने कहा कि विधायक फ्री कोचिंग खोलने के पीछे मेरा मकसद यह है कि प्रत्येक बच्चे को पढ़ाई के समान अवसर मिले एवं जो उसने लक्ष्य निर्धारित किया है उसमें वह सफलता प्राप्त करे। कार्यक्रम में मंच पर अतिथियों के साथ साथ दो नन्हे विधायक अनन्या भदौरिया एवं श्रद्धा सोनी भी मौजूद थी । 

कार्यक्रम में मौजूद कलेक्टर अनुराग चौधरी ने कहा कि विधायक स्टेशनरी बैंक मील का पत्थर साबित होगा उन्होंने कहा कि यह  चैलेंजिंग टास्क है लेकिन  विधायक जी के संकल्प को देखकर लगता है कि यह  विधायक स्टेशनरी बैंक उन गरीब बच्चों के लिए उनके उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए मील का पत्थर साबित होगा।  श्री चौधरी ने कहा कि मैंने विधायक जी से कहा है कि दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में तीन चार स्कूल चयनित कर लें, जिनका संपूर्ण विकास किया जाना हो।  उन्होंने कहा कि विधायक जी विधायक निधि से जितना पैसा उस स्कूल के विकास के लिए लगाएंगे हम उससे 3 गुना पैसा उस स्कूल के विकास के लिए लगाएंगे।  शासकीय गजराराजा कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय  में आयोजित इस कार्यक्रम में शहर के गणमान्य नागरिकों एवं सम्माननीय व्यापारीगणों ने भी विधायक स्टेशनरी बैंक के लिए चेक एवं केश में राशि के साथ साथ स्टेशनरी सामग्री भी विधायक स्टेशनरी बैंक में दान की। कार्यक्रम में कांग्रेस जिला अध्यक्ष डॉ देवेन्द्र शर्मा ,गजराराजा स्कूल की प्राचार्या श्रीमती विभा श्रीवास्तव एवं  विधायक स्टेशनरी बैंक के संयोजक आयुष वेद सहित शहर के अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।।