Gwalior News: पुलिस अधीक्षक से मिले जिला चिकित्सालय के डॉक्टर्स, मांगी सुरक्षा

डॉ पुरोहित ने कहा कि हंगामा करने वालों ने अस्पताल का मेन गेट बंद कर बहुत बड़ा अपराध किया है जो किसी की जान के साथ खिलवाड़ भी कर सकता था हम इसकी शिकायत भी कर रह हैं

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। जिला चिकित्सालय मुरार ग्वालियर (District Hospital Morar Gwalior) की एक महिला चिकित्सक के साथ हुई घटना से आक्रोशित जिला चिकित्सालय के डॉक्टर्स ने पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर सुरक्षा की मांग की है साथ ही दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने और शासकीय कार्य में बाधा डालने का मुकदमा दर्ज करने का निवेदन किया है।

जिला चिकित्सालय मुरार ग्वालियर (District Hospital Morar Gwalior)  के डॉक्टर्स ने प्रसूतिगृह मुरार की चिकित्सक डॉ मेमूना खातून के साथ 3 अप्रैल को हुई घटना को सोची समझी साजिश बताया है। डॉ मेमूना खातून ने जिला चिकित्सालय मुरार ग्वालियर (District Hospital Morar Gwalior)  में पदस्थ साथी डॉक्टर्स के साथ पुलिस अधीक्षक अमित सांघी (SP Amit Sanghi) से मुलाकात कर एक शिकायती आवेदन सौंपा है। अपनी शिकायत में डॉ मेमूना खातून ने कहा कि 3 अप्रैल को मैं ओपीडी (OPD) में थी लंच का समय था तभी करीब डेढ़ बजे 2-3 महिलाएं और 10-12 पुरुष एक मरीज मन्दाकिनी को लेकर ओपीडी में घुस आये। जब मैंने परेशानी पूछी तो वे लोग अपशब्द कहने लगे मेरे खिलाफ नारेबाजी करने लगे कुछ लोग मुझे मारने के लिए दौड़े, किसी ने मेरा हाथ पकड़ लिया, दुपट्टा खींचने का प्रयास किया। हंगामा कर रहे लोगों ने शासकीय कार्य में बाधा डालते हुए वहां से मरीजों और उनके परिजनों को डराकर भगा दिया।

Gwalior News: पुलिस अधीक्षक से मिले जिला चिकित्सालय के डॉक्टर्स, मांगी सुरक्षा

डॉ मेमूना खातून ने कहा कि उन्होंने बड़ी मुश्किल से अंदर भागकर अपनी जान बचाई और स्टाफ को पूरी बात बताई साथ ही पुलिस को फोन किया। वे लोग जाते जाते जान से मारने की धमकी देकर गए और कह रहे थे कि डॉ मेमूना खातून पर हरिजन एक्ट लगवा देंगे। ओपीडी में हंगामा करने के बाद वे  लोग प्रसूतिगृह के मेन गेट पर गए और उसे बंद कर दिया और बाहर बैठकर हंगामा करने लगे।  इन लोगों ने ना किसी को अंदर आने दिया और ना ही बाहर जाने दिया यहाँ तक कि डिलेवरी के लिए आई महिला की एम्बुलेंस को भी प्रसूतिगृह में नहीं आने दिया।  इन लोगों ने एम्बुलेंस के ड्राइवर से कहा कि कमलाराजा अस्पताल ले जाओ।

Gwalior News: पुलिस अधीक्षक से मिले जिला चिकित्सालय के डॉक्टर्स, मांगी सुरक्षा Gwalior News: पुलिस अधीक्षक से मिले जिला चिकित्सालय के डॉक्टर्स, मांगी सुरक्षा

डॉ मेमूना खातून ने कहा कि गार्ड रूम और रजिस्ट्रेशन रूम में पूछने पर मालूम चला कि ये लोग एक घंटे से केवल डॉ मेमूना खातून को ही तलाश रहे थे जिससे साफ पता चलता है कि ये एक साजिश है। डॉ मेमूना खातून ने शिकायती आवेदन में हंगामा करने वालों में मन्दाकिनी घुरैया, अंकित घुरैया, रूपेश केन, पूरन सिंह मौर्य के साथ आठ अज्ञात लोगों के नाम लिखे हैं  उन्होंने बताया कि हंगामा करने वाले लोग डबरा से आये थे इसलिए साजिश का शक और बढ़ जाता है क्योंकि 2 महीने पूर्व उनके द्वारा डबरा थाने में डबरा के पूर्व बीएमओ डॉ सुरेंद्र सिंह सोलंकी और सतेंद्र भार्गव के खिलाफ छेड़खानी और जान से मारने की FIR कराई है।

ये भी पढ़ें – ध्वस्त हुए रिकॉर्ड, बीते 24 घंटे में मिले 3722 नए केस, बोले सीएम शिवराज- गंभीर संकट का महीना

डॉक्टर्स के प्रतिनिधिमण्डल का नेतृत्व कर रहेजिला चिकित्सालय मुरार ग्वालियर (District Hospital Morar Gwalior) के आरएमओ डॉ अलोक पुरोहित (RMO Dr Alok Purohit) ने बताया कि एसपी अमित सांघी से हम लोगों ने डॉक्टर्स की सुरक्षा के लिए 24 घंटे पुलिस की व्यवस्था करने का निवेदन किया है साथ ही दोषियों पर शासकीय कार्य में बाधा डालने और डॉ मेमूना खातून पर जानलेवा हमला करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।  डॉ पुरोहित ने कहा कि हंगामा करने वालों ने अस्पताल का मेन गेट बंद कर बहुत बड़ा अपराध किया है जो किसी की जान के साथ खिलवाड़ भी कर सकता था हम इसकी शिकायत भी कर रह हैं जिससे ऐसा करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जा सके। डॉ अलोक पुरोहित ने कहा कि एसपी अमित सांघी ने जाँच के बाद कार्रवाई का भरोसा दिया है और कहा है कि जल्दी ही सुरक्षा की भी व्यवस्था की जाएगी।

 ये भी पढ़ें – Hardik Patel ने किया गुजरात में सरकार बनाने का दावा, बंगाल चुनावों में हिंसा पर जताई चिंता

पुलिस अधीक्षक से मुलाकात करने वालों में IDA के पूर्व स्टेट अध्यक्ष एवं जिला चिकित्सालय मुरार ग्वालियर (District Hospital Morar Gwalior) के आरएमओ डॉ अलोक पुरोहित (RMO Dr Alok purohit) , IMA के सेक्रेटरी Dr Sunil Sharma, जिला नर्सिंग स्टाफ की सेक्रेटरी एवं मैट्रन श्रीमती ज्योति शर्मा ,सभी गाइनेकोलॉजिस्ट चिकित्सक Dr Gita ahirwar, Dr Shalini Sharma, Dr Rina Saxena, Alka shiv एवं  IMA के पूर्व सेक्रेटरी  Dr हरी सिंह और अन्य स्टाफ शामिल थे।