ईद -उल -अजहा में कोरोना के खात्मे और बारिश के लिए उठे हाथ, गले लग कर दी बधाई

मुस्लिम समाज के लोगों ने गले लगकर एक दूसरे को ईद की बधाई दी और ये भी ताकीद किया कि कोरोना गाइड लाइन का पालन जरुर करे यही हमें कोरोना की तीसरी लहर से बचाएगी और जिंदगी रही तो ऐसे और भी त्यौहार मनाते रहेंगे।   

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। अल्लाह के लिए हजरते इब्राहिम द्वारा अपने बेटे इस्माइल को कुर्बान कर देने के मौके को याद करने के लिए मनाये जाने वाल ईद-उल-अजहा यानि बकरीद का त्यौहार ग्वालियर में भाईचारे के सन्देश का साथ मनाया गया । मस्जिदों और ईदगाहों में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए निर्धारित संख्या में लोगों ने नमाज अदा की। मुस्लिम समाज के लोगों ने अल्लाह से दुआ की कि हमारे मुल्क, हमारे सूबे और हमारे शहर में अमनो अमन रहे , खुशहाली रहे, कोरोना का खात्मा हो। ईदगाहों और मस्जिदों में खासतौर पर अच्छी बारिश के लिए भी दुआ की गई।

ग्वालियर में ईद -अउ-अजहा का त्यौहार भाईचारे और खुशहाली के साथ मना। मस्जिदों और ईदगाहों में तय समय पर ईद की नमाज अदा की गई। मौलाना, इमाम और अन्य धर्म गुरुओं ने लोगों के साथ मिलकर अल्लाह से दुआ की। मस्जिदों और ईदगाहों में इस बार कोरोना के खात्मे के लिए दुआ की गई।

ईद -उल -अजहा में कोरोना के खात्मे और बारिश के लिए उठे हाथ, गले लग कर दी बधाई

ये भी पढ़ें – खबर का असर, एसपी की सख्त कार्रवाई, TI पर गिरी गाज, ASI भी सस्पेंड

ग्वालियर की मस्जिदों और ईदगाहों में मुस्लिम समाज के लोगों ने अमनो अमन की दुआ के साथ ग्वालियर अंचल में अच्छी बारिश के लिए भी दुआ की।  लोगों ने कहा कि बारिश कम होने से जहाँ किसान परेशान हैं वहीँ गर्मी से लोगों का बुरा हाल है। इसलिए अच्छी बारिश के लिए सभी ने दुआ में एक साथ हाथ उठाये।

ये भी पढ़ें – आगामी चुनाव से पहले मध्य प्रदेश के 3 कांग्रेस नेताओं को मिली बड़ी जिम्मेदारी

इस बार खास बात ये रही कि ईद की नमाज पढ़ते समय गृह मंत्रालय के नए आदेश का पालन किया गया। मस्जिदों में 50 से अधिक लोगों शामिल नहीं हुए तो ईदगाहों में 6 से अधिक लोग शामिल नहीं हुए। मुस्लिम समाज के लोगों ने गले लगकर एक दूसरे को ईद की बधाई दी और ये भी ताकीद किया कि कोरोना गाइड लाइन का पालन जरुर करे यही हमें कोरोना की तीसरी लहर से बचाएगी और जिंदगी रही तो ऐसे और भी त्यौहार मनाते रहेंगे।

ये भी पढ़ें – Gwalior News: 1000 बिस्तर का अस्पताल विवादों में, नामकरण को लेकर भाजपा कांग्रेस आमने सामने