विधायक की चेतावनी का असर, कल दिया आदेश आज हुआ 8 सड़कों का भूमिपूजन

impact-of-the-warning-of-the-MLA

ग्वालियर। ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रवीण पाठक की कल की चेतावनी का असर 24 घंटे से भी कम समय में देखने को मिल गया। उन्होंने कल बैठक लेकर अफसरों को सड़कों के भूमिपूजन के लिए कहा था और आज निगम अफसरों ने उनसे 8 सड़कों का भूमि पूजन करा लिया।

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से मंत्री और विधायक जबरदस्त एक्शन मोड में हैं। ग्वालियर दक्षिण विधायक प्रवीण पाठक भी लगातार अपने क्षेत्र के विकास के लिए अफसरों की नकेल कसे हुए हैं। उन्होंने कल बालभवन में नगर निगम के अधिकारियों से साफ़ कहा था कि आचार संहिता लगने से पहले उनके विधानसभा में प्रस्तावित विकास कार्य शुरू हो जाने चाहिए। विधायक पाठक ने अधिकारियों से कहा था कि कल यानि आज शनिवार को सड़कों का भूमिपूजन होना चाहिए। और हुआ भी ऐसा ही। आज विधायक पाठक ने 8 सड़कों किया। इन सड़कों की अनुमानित लागत लगभग साढे चार करोड़ रुपए आएगी।

विधायक श्री पाठक ने इन 8 सड़कों का भूमि पूजन दो अलग अलग कार्यक्रमों के माध्यम से किया एक कार्यक्रम मामा के बाजार में आयोजित किया गया इसमें चार सड़कों का भूमि पूजन किया गया इसके बाद दूसरा कार्यक्रम सराफा बाजार में आयोजित किया गया इस कार्यक्रम में भी 4 सड़कों का भूमि पूजन किया गया। विधायक प्रवीण पाठक ने भूमि पूजन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि दक्षिण विधानसभा का हर नागरिक विधायक है और वह इस हैसियत से यहां होने वाले निर्माण कार्य/ विकास कार्य  की निगरानी करें और गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए कार्य करवाएं। श्री पाठक  ने कहां कि क्षेत्र के विकास में  आपका बहुत योगदान है मैं आशा करता हूं कि आगे भी ऐसे ही आप अपनी भूमिका निभाते रहेंगे विकास में कहीं भी मेरी जरूरत पड़े मैं आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर हमेशा खड़ा रहूंगा और खड़ा हूं । सराफा बाजार के कार्यक्रम में व्यापारियों ने जब अपनी कुछ समस्याएं विधायक श्री पाठक को बताई तो विधायक ने व्यापारियों की समस्याओं को  संबंधित अधिकारियों को मंच पर ही  बुलाकर तत्काल प्रभाव से उनका निरा��रण करवा दिया और अधिकारियों को टाइम लिमिट देकर कहा कि टाइम लिमिट के अंदर सारे कार्य हो जाना चाहिए। कार्यक्रमों में महबूब चैन वाले, पूर्व पार्षद बलराम ढींगरा, ब्लॉक अध्यक्ष कैलाश चावला, ब्लॉक अध्यक्ष संतोष शर्मा, कांग्रेस नेत्री माया कुशवाह, धर्मेन्द्र जैन, मोहित दुसेजा एवं मोनू सोलंकी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष शम्मी शर्मा, अनिल सांखला के साथ साथ सराफा व्यवसाई संघ के कई पदाधिकारी मौजूद थे।