ग्वालियर।अतुल सक्सेना।
पॉस्को एक्ट में ग्वालियर सेंट्रल जेल में बंद एक बंदी ने पेड़ पर लटक कर फांसी लगा ली। घटना की जानकारी मिलते ही जेल प्रशासन ने बंदी के शव को नीचे उतारा। अधीक्षक ने लापरवाही का दोषी पाते हुए तीन प्रहरियों को सस्पेंड कर दिया।

अधीक्षक सेंट्रल जेल मनोज कुमार साहू के मुताबिक बंदी नरोत्तम रावत ने बीती शाम साढ़े छह बजे खाना खाया था साढ़े साथ बजे तक जब वो बैरक में नहीं पहुंचा तो उसकी तलाश की गई और तब मालूम चला कि उसने जेल परिसर के अंदर मंदिर के पास लगे पेड़ पर साफी(गमछे) से फांसी लगा ली। जेल अधीक्षक के मुताबिक 20 वर्षीय बंदी नरोत्तम ग्वालियर जिले के करैया थाने के एटमा गाँव का रहने वाला था और 23 जनवरी को पॉस्को एक्ट में जेल में बंद हुआ था। उन्होंने बताया कि घटना में प्रथम दृष्ट्या लापरवाही मिलने पर तीन जेल प्रहरी सस्पेंड कर दिये गए हैं इनमें मुख्य प्रहरी ओम प्रकाश सुमन, प्रहरी मनोज त्यागी, और प्रहरी प्रेम गोयल शामिल हैं। घटना की सूचना बहोडापुर थाना पुलिस और मृतक के परिजनों को दे दी गई है और मृतक के शव को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है