GWALIOR

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में माफिया के खिलाफ की जा रही सख्त कार्रवाई के बावजूद रेत माफिया (Sand Mafia) बेखौफ होकर अपना कारोबार कर रहा है। लेकिन रेत माफिया पर कार्रवाई के अंतर्गत आज ग्वालियर प्रशासन (Gwalior Administration) को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस और प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई में एक करोड़ रुपये की अवैध रेत और रेत सप्लाई में लगे वाहन जब्त किये गए हैं।

यह भी पढ़े… कांग्रेस विधायक का निधन, पार्टी में शोक लहर, लंबे समय से चल रहे थे बीमार

ग्वालियर जिला प्रशासन और पुलिस (Gwalior Police) की संयुक्त टीम ने आज शुक्रवार को महाराजपुरा थाना क्षेत्र के दीन दयाल नगर में रेत माफिया के खिलाफ बड़ी छापा मार कार्रवाई की। पुलिस को सूचना मिल रही थी कि कुछ लोग दीन दयाल नगर के पीछे अवैध रेत का भंडारण करते हैं और उसकी बिक्री करते हैं।

सूचना के बाद पुलिस ने खनिज और राजस्व विभाग (Department of Minerals and Revenue) के साथ पांच ठिकानों पर छापे मारे। एडीएम (ADM) रिंकेश वैश्य और सीएसपी (CSP) रवि भदौरिया के नेतृत्व में महाराजपुरा थाना पुलिस ने खनिज अधिकारियों (Mineral Officers) के साथ पांच लोगों के पांच ठिकानों पर छापे मारे। टीम को यहाँ बड़ी मात्रा में रेत मिली। यहाँ करीब 30-40 डंपर रेत पड़ा मिला और रेत भरते वाहन मिले।

यह भी पढ़े… कृषि मंत्री की चेतावनी- हड़ताली कर्मचारियों के होगी खिलाफ कड़ी कार्रवाई

खास बात ये है कि यहाँ रेत में चंबल की रेत भी शामिल है। जो प्रतिबंधित क्षेत्र चंबल अभ्यारण से निकाली जा रही है। संयुक्त टीम ने यहाँ से चार ट्रैक्टर ट्रॉली और दो लोडर जब्त किये। पुलिस ने यहाँ से पांच लोगों को भी हिरासत में लिया है। सीएसपी ने बताया कि रेत और जब्त वाहनों की कुल कीमत एक करोड़ रुपये के आसपास है। आरोपियों के खिलाफ महाराजपुरा थाने में एफआईआर (FIR) दर्ज कराई जा रही है