उमा-सिंधिया समर्थकों से मिले नरोत्तम, बोले-कोई भी कर सकता है मंत्री बनने की मांग

ग्वालियर। अतुल सक्सेना।

24 सीटों पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव(by election) से पहले गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा (Home and Health Minister Dr. Narottam Mishra) प्रत्येक शनिवार रविवार अंचल के दौरे (gwalior tour) पर होते हैं इस दौरान वे कार्यक्रमों में हिस्सा लेते हैं और नेताओं से मुलाकात करते हैं। इसमें उन नेताओं से मुलाकात खास रहती है जो या तो सिंधिया समर्थक हैं या भाजपा के ही हैं लेकिन कहीं नाराजगी का भाव है।

इस शनिवार रविवार को भी डॉ नरोत्तम मिश्रा अंचल के दौरे पर थे इस दौरान उन्होंने डबरा और दतिया (Dabra and Datia) में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया और नेताओं से मुलाकात की। रविवार की देर रात ग्वालियर पहुंचे डॉ मिश्रा ने वरिष्ठ नेत्री एवं पूर्व मुख्यमंत्री, पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती के समर्थक प्रीतम लोधी (Pritam Lodhi, a supporter of former Union Minister Uma Bharti) के घर जाकर मुलाकात की। उन्होंने मंच से प्रीतम लोधी की तारीफ करते हुए कहा कि ये विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी के प्रत्याशी रहे हैं, बहुत मेहनती हैं, समाज के लिए संघर्ष करना इनकी विशेषता है। डॉ मिश्रा ने कहा कि मैं प्रीतम भैया से तो मिलता रहता हूँ। आज परिवार से मिलने आया हूँ और कार्यकर्ताओं से मिलने आया हूँ। उन्होंने कहा कि आपको जब भी मेरी जरूरत पड़े रात दिन नहीं देखना मैं सदैव आपके साथ रहूँगा। माना जा रहा है कि प्रीतम लोधी से मुलाकात पिछले दिनों सामने आई उमा भारती की नाराजगी को दूर करने के उद्देश्य से की गई है।

डॉ नरोत्तम मिश्रा ने सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल से भी उनके निवास पर मुलाकात की। उन्होंने मुलाकात के बाद मीडिया से कहा कि हम 20 साल पहले एक साथ विधायक रहे हैं हमने साथ में लगभग आधी दुनिया का भ्रमण भी किया है। रमेश भाई साहब से मुलाकात होती रहती है आज मैं भाभी और गुड़िया से मिलने आया हूँ क्योंकि गुड़िया उस समय गोदी में थी। सिंधिया समर्थक मंत्रियों के विभाग की मांग करने के सवाल पर गृह मंत्री ने कहा कि मांग तो कोई भी कर सकता है ये उसका अधिकार है। उन्होंने मीडिया से कहा कि सिंधिया समर्थक क्यों कहते हो अब सब भारतीय जनता पार्टी के हैं। मुलाकात के दौरान डॉ मिश्रा के साथ सांसद विवेक शेजवलकर और भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here