तंवरघार के लोग अपने स्वाभिमान से समझौता नहीं करेंगे- रघु ठाकुर

ग्वालियर, अतुल सक्सेना| मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर होने वाले उप चुनावों की तारीख का एलान भले ही नहीं हुआ हो लेकिन राजनैतिक दलों ने क्षेत्र में जाकर प्रचार तेज कर दिया है। विशेष बात ये है कि इस बार के चुनाव में राजनीति की अलग तस्वीर देखने को मिल रही है। एक और सिंधिया के साथ भाजपा में गए बागी उम्मीदवार हैं तो दूसरी और कांग्रेस नये प्रत्याशी को मैदान में उतार रही है। उसने अपने 15 प्रत्याशी घोषित कर दिये है। लेकिन अंचल में कुछ सीटों पर मुकाबला रोचक होना तय है। इसमें एक सीट है मुरैना जिले की दिमनी विधानसभा। जहाँ लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी ने एक ऐसा उम्मीदवार मैदान में उतारा है जिसके साथ अभी से क्षेत्र की जनता भरोसा जता रही है। पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में मंगलवार को लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी के संस्थापक रघु ठाकुर दिमनी पहुंचे।

लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी के संस्थापक व प्रसिद्ध समाजवादी चिंतक रघु ठाकुर ने दिमनी विधानसभा के खड़िया हार में पार्टी प्रत्याशी जयंत सिंह तोमर के समर्थन में विकास सम्मेलन को संबोधित किया। रघु ठाकुर ने कहा कि तंवरघार के लोग अपने स्वाभिमान , आत्मत्याग के लिए प्रसिद्ध हैं। आगामी उपचुनाव में यहाँ के लोग पैसे और शराब को धता बताकर ईमानदार और योग्य उम्मीदवार के पक्ष में अपना मत देंगे उन्होंने हल्दीघाटी युद्ध के बलिदानी रामसहाय तोमर को याद करते हुए कहा कि स्वाभिमान की खातिर वे अपने बेटे और नाती के साथ महाराणा प्रताप के काम आए। उनकी समाधि हल्दीघाटी में आज भी मौजूद है। इसी तरह अमर शहीद रामप्रसाद बिस्मिल का इस अंचल से सम्बंध रहा है। हिन्दी के प्रसिद्ध विद्वान रामसिंह तोमर इसी अंचल में हुए, इस इलाके के लोगों को अगर अपना गौरव याद होगा तो ईमानदार और योग्य उम्मीदवार को ही वोट देंगे।

आयोजन की अध्यक्षता शिक्षाविद व पूर्व- प्राचार्य दीनदयाल शर्मा ने की। पूर्व प्राचार्य आर पी दीक्षित व लोसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्यामसुंदर यादव इस अवसर पर मंच पर उपस्थित थे।
रघु ठाकुर ने दलबदल को लोकतंत्र के लिए कलंक बताते हुए भाजपा व कांग्रेस की जनविरोधी नीतियों पर समान रुप से हमला किया और कहा कि पैसे के बल पर जिस तरह लोग चुनाव जीत रहे हैं वह लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा है और लोकतंत्र को बचाना हम सबकी जिम्मेदारी है, अगर ऐसा न हुआ तो लोकतंत्र बदलकर धनतंंत्र हो जाएगा।

रघु ठाकुर ने कहा कि लोसपा प्रत्याशी अगर विधानसभा में पहुंचा तो सबसे पहले वह यह प्रस्ताव लाएगा कि हर किसान को सरकार दो गाय दे और उन्हें पालने के लिए सरकार छह हजार रुपये महीना किसानों को मुहैया कराये। अगर ऐसा हुआ तो आवारा गायों की समस्या से निजात मिलेगी। रघु ठाकुर ने समाप्त हो चुकी गोचर व चरनोई की जमीन पर भी चिंता जताई और कहा कि एक समय छह फीसदी जमीन गायों के लिए छोड़ी जाती थी।

रघु ठाकुर ने कोरोना के समय में बेरोजगार हुए लोगों को दस हजार रुपये महीना कोरोना पेंशन व कोरोना पैकेज देने की भी जरूरत बताते हुए सवाल उठाया कि जिस अवधि संसद व विधानसभा बंद रही है विधायक व सांसदों को उस अवधि का वेतन क्यों लेना चाहिए? रघु ठाकुर ने यह भी कहा कि बीहड़ की जमीन केवल भूमिहीन व छोटे किसानों को ही दी जाए, न कि पूंजीपतियों को। रघु ठाकुर ने कहा मध्यप्रदेश सरकार पांच हजार करोड़ का कर्ज लेकर बनिये की दुकान में तब्दील हो चुकी है और अपने कर्मचारियों को वेतन भी अब किश्तों में दे पा रही है।

अध्यक्षीय उद्बोधन में शिक्षाविद दीनदयाल शर्मा ने कहा कि दिमनी क्षेत्र की जनता को आगामी उपचुनाव में नये विकल्प पर गंभीरता से विचार करना चाहिए। शिक्षाविद आर पी दीक्षित ने कहा कि लोसपा प्रत्याशी चुनाव जीतने के बाद भी उसी सादगी से रहेंगे जैसे अब हैं, इस बात का विश्वास है।

लोसपा के उम्मीदवार जयंत सिंह तोमर ने कहा कि समाजवाद वह विचारधारा है जिसमें सामाजिक व आर्थिक गैर बराबरी को हर संभव प्रयास किया जाता है.। डॉ लोहिया से लेकर रघु ठाकुर ने सादगी व संघर्ष की जो मिसाल पेश की है उस परम्परा को हर हाल में कायम रखा जाएगा। उन्होंने जनता से ऐसे संघर्ष को ताकत देने की अपील की। लोसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्यामसुंदर यादव ने कहा कि जनता ने सभी दलों को वोट देकर देख लिया अब नये विकल्प पर भी विचार करे। आयोजन में चिम्मन सिंह जाटव, संजीव राणा, असगर खान, रुपेन्द्र राणा, ओंकार बघेल, शिवसिंह गुर्जर आदि पार्टी पदाधिकारी सहित पत्रकार राजवीर शर्मा उपस्थित थे|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here