ग्वालियर क्राइम ब्रांच की त्वरित कार्यवाही, व्हाट्सएप पर भड़काऊ मैसेज करने वाले व्यक्ति को ट्रेसिंग से किया गिरफ्तार

पूछताछ के दौरान इस व्यक्ति ने व्हाट्सएप पर भड़काऊ मैसेज भेजना और समाज में द्वेष भावना के साथ चुनाव प्रक्रिया को बाधित करने का विचार स्वीकारा।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना की घोषणा होते ही योजना के खिलाफ युवाओं का प्रदर्शन चालू हो गया। प्रदर्शन धीरे धीरे प्रदर्शन हिंसा के रूप में बदल गया। बिहार से उठी हिंसा की लपटें देखते ही देखते मध्य प्रदेश के ग्वालियर में धधक उठी। गुस्साए छात्रों ने ना केवल सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया बल्कि आमजन के आवागमन को भी बाधित किया। लगभग तीन घंटे चले इस उपद्रव के बाद ग्वालियर प्रशासन और पुलिस ने जैसे तैसे उपद्रवियों पर काबू किया।

हालांकि ग्वालियर में जो भी हुआ वह इंटेलिजेंस फेलियर का एक बहुत बड़ा प्रमाण भी था। लेकिन इस उपद्रव के बाद ग्वालियर पुलिस ने हर तरफ चौकसी बढ़ा दी। इसी चौकसी के चलते ग्वालियर पुलिस अधीक्षक और ग्वालियर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने एक आरोपी को सोशल मीडिया पर झूठी अफवाह और भड़काऊ मैसेज फैलाने के लिए गिरफ्तार किया है।

आपको बता दें शनिवार को ग्वालियर पुलिस की साइबर क्राइम सेल को एक जानकारी मिली जिसके मुताबिक इस शख्स द्वारा सोशल मीडिया पर चुनाव नहीं होने देने के संबंध में तथा ग्वालियर में चल रही नामांकन प्रक्रिया को रोकने के लिए एक ऑडियो मैसेज भेजा गया है। इस मैसेज में जिस भाषा का उपयोग शख्स द्वारा किया गया वह भड़काऊ थी।

मैसेज की जानकारी मिलते ही ग्वालियर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी एक्शन मोड में आ गए और ज्ञात नंबर की मदद से इस शख्स की जानकारी निकालना शुरू करी। जांच पड़ताल में यह सामने निकल कर आया कि जिस मोबाइल से यह मैसेज भेजा गया है उसका धारक भितरवार तहसील के बागबई गांव का रहने वाला है और वर्तमान में वह चंद्रबदनी नाके पर रहता है।

जब पुलिस द्वारा इस व्यक्ति के नंबर की ट्रेसिंग की गई तब उस दौरान यह व्यक्ति शहर के गोल पहाड़िया चौराहे पर खड़ा हुआ था। पुलिस ने इसे उसी स्थान पर जाकर धरदबोचा।

पूछताछ के दौरान इस व्यक्ति ने व्हाट्सएप पर भड़काऊ मैसेज भेजना और समाज में द्वेष भावना के साथ चुनाव प्रक्रिया को बाधित करने का विचार स्वीकारा। बता दें शक्स के गुनाह कुबूलने के बाद पुलिस ने व्यक्ति का मोबाइल जप्त कर उसके खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया और उसे गिरफ्तार लिया है।