एस्मा और कोरोना संकट की परवाह किये बिना प्रदेश में 80 डॉक्टरों का इस्तीफा, बढ़ सकता है आंकड़ा

ग्वालियर।अतुल सक्सेना| पूरे देश के साथ प्रदेश भी कोरोना (Corona) संकट से जूझ रहा है। सरकार (Government) इससे निपटने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है लेकिन इस बीच सरकार के प्रयास को झटका लगा है। प्रदेश में एस्मा लागू होने के बावजूद 80 मेडिकल ऑफिसर्स (Medical Officers) ने इस्तीफे (resign) दे दिये हैं। खबर है कि आने वाले एक दो दिन में ये आंकड़ा दो सौ को पार कर जायेगा। इस्तीफे की वजह सरकार की “इन सर्विस पॉलिसी” में बदलाव बताया जा रहा है।

डॉक्टर को धरती का भगवान कहा जाता है । इसीलिए समाज भी उन्हें आदर की निगाह से देखता है। इनकी आवश्यकता और महत्व को देखते हुए राज्य सरकार ने 8 अप्रैल को प्रदेश में एस्मा लागू कर दिया बावजूद इसके कोरोना संकट और एस्मा की परवाह किये बिना ग्रामीण क्षेत्रों में पदस्थ मेडिकल ऑफिसर्स इस्तीफे दे रहे हैं। जानकारी के मुताबिक कल से शुरू हुए इन इस्तीफों की संख्या 80 पहुँच गई है जो एक दो दिन में 200 को पार कर जायेगी। इन इस्तीफों की वजह प्रदेश सरकार द्वारा “इन सर्विस पॉलिसी” में किया गया बदलाव बताया जा रहा है जिसके तहत इन्हें अब पीजी सीट में मिलने वाला 50 प्रतिशत का कोटा नहीं मिलेगा।