सरपंच के भाई की गोली मारकर हत्या, चाचा को जीप से बांधकर घसीटा, गांव में तनाव

शिकायत के बाद एसपी ने आरक्षक को पुलिस लाइन अटैच कर दिया है और घटना की जाँच के आदेश दे दिए हैं साथ ही सभी 9 आरोपियों और  बन्दुक के लायसेंस निरस्त करने की अनुशंसा का भरोसा दिलाया है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  ग्वालियर में कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) की सख्ती के बीच भी हत्या (Murder) का सिलसिला जारी है। ताजा मामला ग्रामीण क्षेत्र के आरोन थाने का है जहाँ आपसी विवाद में गांव के ही लोगों ने सरपंच के चचेरे भाई की हत्या (Murder)कर दी और चाचा की हत्या (Murder) के भी प्रयास किये। उधर मृतक के परिजनों ने आरोन पुलिस थाने में पदस्थ एक आरक्षक की भूमिका पर सवाल उठाये हैं।  शिकायत के बाद एसपी ने आरक्षक को लाइन अटैच कर दिया है और जाँच के आदेश दे दिए है इसके अलावा हत्या (Murder) में नामजद 9 आरोपियों के हथियारों के लायसेंस निरस्त करने की अनुशंसा का भरोसा दिया है।

बुधवार को बहोड़ापुर थाना क्षेत्र के घोसीपुरा श्रीविहार कॉलोनी में रिटायर्ड SI मेघसिंह की गाला दबाकर हत्या, गुरूवार को थाटीपुर थाना क्षेत्र के दर्पण कॉलोनी में युवक वरुण सिकरवार की हत्या के बाद आज गुरुवार को आरोन थाना क्षेत्र में सरपंच के चचेरे हत्या कर दी गई । आरोपी गांव के ही लोग है जिन्होंने आपसी विवाद में गोली चला दी जिससे गांव के सरपंच के चचेरे भाई की मौके पर ही मौत हो गई।  आरोपियों ने सरपंच के चाचा को जीप से बांधकर घसीटकर जान से मरने का प्रयास किया फिर मरा हुआ छोड़कर भाग गए। उनके पैर में फ्रैक्चर हुआ है।  उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद पीड़ित पक्ष पुलिस थाने पहुंचा और 9 नामजद आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया। सरपंच के भाई की गोली मारकर हत्या, चाचा को जीप से बांधकर घसीटा, गांव में तनाव सरपंच के भाई की गोली मारकर हत्या, चाचा को जीप से बांधकर घसीटा, गांव में तनाव

मृतक के भाई रघुवीर सिंह के मुताबिक उसका चाचा का लड़का बनेरी विक्रम गांव का सरपंच है।  उसके यहाँ काम करने वाले लड़के के साथ आरोपियों में से एक ने मारपीट कर दी थी जिसकी शिकायत करने सरपंच और अन्य लोग आरोन पुलिस  थाने गए थे।  आरोपियों को पता चला तो उन्होंने थाने जाकर रिपोर्ट वापस लेने की धमकी दी। जब शिकायत वापस नहीं ली गई तो फिर बाद में उन लोगों ने एक राय होकर गोली चला दी गोली रामनिवास के पेट में लगी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। हम लेकर ग्वालियर जेएएच लेकर आये जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

ये भी पढ़ें – कोरोना कर्फ्यू : तराजू छीनना पुलिस आरक्षक को पड़ा महंगा, सब्जी वाले ने चाकू से किया हमला

रघुवीर के मुताबिक घटना में 9 आरोपी शामिल हैं। आरोपियों ने मेरे पिता को जीप से बांधकर घसीटा लाठियों से मारा और मरा हुआ छोड़कर भाग गए। उनके पैर में फ्रेक्चर हो गया। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है  रघुवीर के मुताबिक आरोपियों ने पुलिस थाने में ही धमकी दी लेकिन पुलिस देखती रही।  उसने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्य आरोपी का रिश्तेदार आरोन थाने में आरक्षक है ये उसी का षड्यंत्र है।  घटना के बाद से आरोपी फरार हैं।

ये भी पढ़ें – कोरोना में जान गंवाने वाले कर्मचारियों के बच्चों की पढ़ाई,परिवार की देखभाल करेंगी ये कंपनियां

मृतक के परिजन कार्रवाई की मांग को लेकर एसपी अमित सांघी (SP Amit Sanghi) के पास पहुंचे। उन्होंने घटना की जनकारी देते हुए आरक्षक की शिकायत की और आरोपियों और उनके परिजनों के हथियारों के लायसेंस निरस्त करने की मांग की।  पीड़ितों ने आरोप लगाए की आरोपीगण बन्दूक की दम पर गांव में दबंगई करते हैं।  शिकायत के बाद एसपी ने आरक्षक को पुलिस लाइन अटैच कर दिया है और घटना की जाँच के आदेश दे दिए हैं साथ ही सभी 9 आरोपियों और  बन्दुक के लायसेंस निरस्त करने की अनुशंसा का भरोसा दिलाया है। घटना के बाद से गांव में तनाव है जिसे देखते हुए एसपी ने गांव में गार्ड तैनात कर दिए हैं।