महिला सामान्य सीट होते ही नेत्रियों के चेहरे खिले, इनके नामों की चर्चा शुरू

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्यप्रदेश की 16 नगर निगमों (Municipal Corporation) में महापौर (Mayor) पद के लिए आरक्षण की प्रक्रिया पूरी होते ही संभावित उम्मीदवारों के चेहरे खिल गए हैं। स्थानीय नेता उन्हें घर जाकर तो बहुत से लोग फोन पर बधाई दे रहे हैं। उधर सोशल मीडिया पर भाजपा BJP)  और कांग्रेस (Congress) के संभावित उम्मीदवारों के नामों की चर्चा शुरू हो गई है।

महापौर आरक्षण प्रक्रिया में ग्वालियर महापौर का पद सामान्य महिला के खाते में गया है। महिला उम्मीदवार के लिए सीट सुरक्षित होने के बाद से भाजपा और कांग्रेस नेत्रियों के नामों की चर्चा शुरू हो गई है। जिन नामों की चर्चा हो रही है उसमें भाजपा और कांग्रेस नेत्रियों की चर्चा अधिक है। बाकी दलों के नाम अभी सामने नहीं आये हैं।

सोशल मीडिया में भाजपा की तरफ से वरिष्ठ नेत्री, पूर्व राज्यसभा सदस्य, पूर्व मंत्री माया सिंहपूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता, भाजपा महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष एवं पूर्व पार्षद खुशबू गुप्ता, वरिष्ठ नेत्री मीना चौधरी, वरिष्ठ नेत्री सुमन शर्मा , वरिष्ठ नेत्री प्रमिला वाजपेयी, वरिष्ठ नेत्री पूर्व पार्षद डॉ अंजलि रायजादा के अलावा मेयर इन काउंसिल के सदस्य धर्मेंद्र तोमर की पत्नी और सतीश बोहरे के छोटे भाई की पत्नी के नाम चर्चा में हैं वहीं कांग्रेस की तरफ से जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा की पत्नी पूर्व पार्षद रीमा शर्मा, विधायक सतीश सिंह सिकरवार की पत्नी पूर्व पार्षद शोभा सिकरवार , वरिष्ठ नेत्री एवं AICC की सदस्य रश्मि पवार, वरिष्ठ नेत्री रश्मि परिहार के नाम चर्चा में हैं।

इन नामों की चर्चा के बीच भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से कहा कि हमारी पार्टी कार्यकर्ता आधारित दल है। हमारे यहाँ वरिष्ठ नेतृत्व उम्मीदवार तय करता है और पूरी पार्टी उसके लिए काम करती है। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी ऊर्जा वान, शहर के विकास की चिंता करने वाला, जनता के बीच अच्छी छवि और पहचान रखने वाला उम्मीदवार देगी। उधर कांग्रेस जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से कहा कि पार्टी हाई कमान जो नाम प्रत्याशी तय करेगी उसके लिए पूरी पार्टी काम करेगी। उन्होंने कहा कि हमारा प्रत्याशी नगर निगम की कार्यप्रणाली को समझने वाला, शहर के विकास की चिंता करने वाला और ईमानदार छवि वाला होगा।