पुलिस का अमानवीय चेहरा, पंचनामे के इंतजार में रात भर फांसी पर लटका रहा शव

-The-inhuman-face-of-the-police-waiting-for-Panchnama-body-hanging-overnight--

ग्वालियर । देशभक्ति और जनसेवा का नारा देने वाली मध्यप्रदेश पुलिस का एक अमानवीय चेहरा बीती रात ग्वालियर में उस समय सामने आया जब फांसी पर लटके एक महिला के शव को पुलिस ने सिर्फ इसलिए नीचे नहीं उतारा कि रात को पंचनामा नहीं किया जा सकता । घटना स्थल पर पहुंचने के बाद पुलिस ने कमरे को सील कर दिया और फिर आज सुबह फॉरेंसिक एक्सपर्ट की जांच के बाद पंचनामा बनाकर शव को नीचे उतारा और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

ग्वालियर के जनकगंज थाना क्षेत्र की सत्य नारायण की टेकरी पर रहने वाली नव विवाहिता पूनम ने बीती रात घर में ही फांसी लगा ली। घटना की जानकारी तब लगी जब पति ओमप्रकाश धाकड़ मजदूरी कर वापस लौटा । ओमप्रकाश मार्बल का काम करता है और रोज की तरह सुबह काम पर गया थआ , जब वो वापस घर लौटा तो पूनम फांसी पर लटकी मिली। दो साल पहले ही पूनम की शादी ओमप्रकाश से हुई थी, उसका मायका मुरैना में है, घटना की सूचना ओमप्रकाश ने जनकगंज थाना पुलिस को सूचना दी। पुलिस जब तक जांच के लिए पहुंची तब तक रात हो चुकी थी,  नियमानुसार  नव विवाहिता की मौत पर तहसीलदार की मौजूदगी में पंचनामा बनाया जाता है। लोकिन रात को पंचनामा नहीं बनाया जा सकता इसलिए पुलिस ने शव को नीचे नहीं उतारा और कमरे को सील कर वापस लौट गई।  सुबह पुलिस फॉरेंसिक एक्सपर्ट और तहसीलदार के साथ घटना स्थल पर पहुंची। फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने जांच की, फिर पुलिस ने तहसीलदार की मौजूदगी में पंचनामा तैयार किया और शव को नीचे उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया । यहां खास बात ये है कि नियमों के फेर में रात भर परिजन और पड़ोसी शव की मौजूदगी में वहीं बैठे रहे और शव की हालत खराब होते देखते रहे। बहरहाल पुलिस ने आत्महत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।