सुसाइड नोट में लिखी अंग दान की इच्छा, शर्त ये कि जिसे मिले वो 12 ज्योतिर्लिंग जाये

सुसाइड नोट के अंत में अजय ने लिखा कि बस मुझे ख़ुशी इस बात की है कि मैं जाते जाते मुझे मेरे फेवरेट रोहित शर्मा का मैच देखने को मिलेगा।    

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। बीकॉम के एक छात्र ने संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर सुसाइड (Suicide) कर ली। छात्र के कमरे से दो पेज का सुसाइड नोट (Suicide Note) भी मिला है जिससे पता चलता है कि छात्र डिप्रेशन में था उसे कोई परेशानी थी लेकिन उसने वो किसी को बताई नहीं। सुसाइड नोट (Suicide Note) में छात्र ने अपने शरीर के अंग दान करने की बात लिखी है, साथ  ही साथ यह भी लिखा है कि जिस व्यक्ति को उसके शरीर का अंग दिया जाए उसे 12 ज्योतिर्लिंग के दर्शन करे , मैं तो नहीं जा पाया वो जरूर जाये। मृतक ने लिखा कि उसकी अस्थियां गंगा जी की जगह केदारनाथ में विसर्जित की जाएं, जहाँ मैं सुकून से रह सकूँ। पुलिस पूरे मामले की पड़ताल कर रही है।

ग्वालियर के गोला का मंदिर थाना क्षेत्र की गोवर्धन कॉलोनी में रहने वाला अजय चौहान बीकॉम की पढाई कर रहा था।  उसने बीती रात अपने कमरे में फांसी लगाकर संदिग्ध परिथितियों में सुसाइड (Suicide) कर लिया। सुसाइड (Suicide) की जानकारी सुबह तब लगी जब अजय बहुत देर तक सोकर नहीं उठा।  सूचना मिलने पर गोले का मंदिर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। तलाशी के दौरान पुलिस को छात्र के कमरे से 2 पेज का एक सुसाइड नोट (Suicide Note) मिला है जिसमें छात्र ने अपनेेे जीवन को असफल बताते हुए परिजनों से माफी मांगी है। उसने माता पिता से माफ़ी मांगते हए लिखा कि आपने मुझे लेकर बहुत सपने देखे होंगे लेकिन मैं उन सपनों के लायक नहीं सच बोलूं तो मैं आप लोगों के लायक ही नहीं।

सुसाइड नोट में लिखी अंग दान की इच्छा, शर्त ये कि जिसे मिले वो 12 ज्योतिर्लिंग जाये

 ये भी पढ़ें – रिटायर्ड एसआई ने नाबालिग पोती की सहेली के साथ किया दुष्कर्म, फरार

सुसाइड नोट (Suicide Note) में अजय ने लिखा कि मैं बहुत बड़ा कायर हूँ अपने मन की बात किसी से कह नहीं पाया मैंने बहुत कोशिश की प्रॉब्लम से लड़ने की लेकिन मैं हार गया और गिव अप  कर रहा हूँ।  अजय ने लिखा कि मैं जीते जी तो किसी के काम नहीं आ पाया लेकिन मैं चाहता  हूँ कि मेरे शरीर के अंग दान किये जाएँ पर एक शर्त है कि जिसको भी मेरे शरीर के अंग दान किये जाएँ उससे विनती की जाये कि वह 12 ज्योतिर्लिंग जाये मैं तो जा नहीं पाया पर वो मेरी तरफ से जरूर जाएँ ।  मेरी एक अंतिम इच्छा है कि मेरी अस्थियों भी गंगा जी की जगह केदारनाथ में छोड़ी जाएँ जहाँ मैं सुकून से रह सकूँ। अंत में सुसाइड नोट (Suicide Note) में परिवार के एक एक सदस्य के लिए बहुत सी बातें लिखी हैं. एक लड़की  लिखते हुए किसी अंकल से उसकी शादी 30 को ही रखने की बात भी अजय ने सुसाइड नोट (Suicide Note ) में लिखी है।  सुसाइड नोट (Suicide Note) के अंत में अजय ने लिखा कि बस मुझे ख़ुशी इस बात की है कि मैं जाते जाते मुझे मेरे फेवरेट रोहित शर्मा का मैच देखने को मिलेगा।

ये भी पढ़ें – भोपाल को लेकर बड़ा फैसला- मंगलवार से 19 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू

फिलहाल पुलिस ने मृतक छात्र द्वारा छोड़े गए 2 पेज के सुसाइड नोट (Suicide Note) को जांच में ले लिया है उसकी पड़ताल फोरेंसिक एक्सपर्ट और हेंड राइटिंग एक्सपर्ट से कराइ जाएगी। पुलिस परिजनों से पूछताछ कर जानकारी जुटाने में लगी है।