हरदा। गुरुवार रात हरदा स्टेशन से पहले एक बड़ा ट्रेन हादसा टल गया। यहां फिरोजपुर से मुंबई जा रही पंजाब मेल की कपलिंग टूटने से ट्रेन दो हिस्सों में बंट गई। ट्रेन केवल 17 डिब्बों के साथ ही स्टेशन पर पहुुंची, जबकि अन्य 7 डिब्बे स्टेशन से कुछ दूर पहले ही जंगल में छूट गए। जानकारी मिलने के बाद ट्रेन को वापस पीछे की तरफ ले जाया गया और छूटे 7 डिब्बों को जोडक़र हरदा रेलवे स्टेशन लाया गया। यहां से रिपेरिंग होने के बाद ट्रेन रात 10:45 बजे रवाना हो सकी।

दरअसल पंजाब मेल गुरुवार रात 10 बजे हरदा रेलवे स्टेशन से 500 मीटर पहले कपलिंग टूटने से दो हिस्सों में बंट गई। पंजाब मेल के एस-5 और एस -6 कोच की कपलिंग टूटने की वहज से एक दूसरे से अलग हो गए। ट्रेन इंजन और 17 डिब्बों के साथ हरदा स्टेशन पहुंची। जबकि अन्य 7 डिब्बे स्टेशन से कुछ दूर पहले ही छूट गए। कपलिंग टूटने पर एस-5 के यात्रियों में झटका लगते ही अफरातफरी मच गई। ट्रेन के दो हिस्सों में बंटने की जानकारी होने पर एस-5 के यात्री ने झटका लगते ही चेन पुलिंग की। झटका इतना जबरदस्त था कि बर्थ पर सोए कई यात्री गिर गए। कुछ को हाथ-पैर में और कुछ को अंदरूनी चोटें आई हैं। अंधेरा होने से अफरातफरी मचने के बाद सूचना मिलने पर रेलवे स्टाफ मौके पर पहुंचा। ग्वालियर से मुंबई जा रहे यात्रियों ने बताया कि अचानक ट्रेन को जोरदार झटका लगा, जब उन्होंने गेट से बाहर देखा तो ट्रेन दो हिस्सों में बंटी नजर आई। इंजन से लगे कोच आगे जा रहे थे। यात्रियों ने बताया कि ट्रेन से छूटे 7 डिब्बे हरदा रेलवे स्टेशन के पहले ओवरब्रिज के पास जाकर रुक गए।

35 मिनट देरी से रवाना हुई ट्रेन

हरदा के एएसएम रामेश्वर सिंह ने बताया पंजाब मेल के एस-5 बोगी की स्पेयर कपलिंग टूट गई थी। बाद में 17 डिब्बों को भी वापस लाकर जंगल में छूटे 7 डिब्बों से जोड़ा गया और हरदा स्टेशन लाया गया। रिपेयरिंग में कर्मचारियों को करीब 25 मिनट लगे। इसके कारण ट्रेन 35 मिनट देरी से रात 10.45 बजे ट्रेन रवाना हुई।