कांग्रेस

शेख रईस, बुरहानपुर। कोरोना के हालात सुधरने के साथ धीरे धीरे अनलॉक (Unlock) की प्रकिया शुरू करने के निर्देश का पालन बुरहानपुर जिला प्रशासन ने शुरू तो कर दिया लेकिन अनलॉक (Unlock) का पहला आदेश ही विवादों में आ गया। जिला प्रशासन ने किराना की दुकानों के साथ शराब की दुकानें (Liquor Shop) खोलने का आदेश भी दिया है। प्रशासन के आदेश पर कांग्रेस ने आपत्ति दर्ज कराई है।

बुरहानपुर जिला प्रशासन द्वारा 24 मई से जिले वासियों को राहत देते हुए आवश्यक सेवाओ में छूट दी है जिसमें प्रमुख रूप से किराना दुकानों को अब सुबह 6 बजे से दोपहर 4 बजे तक खोलने की अनुमति प्रदान की गई है।  जिला प्रशासन के आदेश में इसके साथ ही शराब दुकानों को भी खोलने की अनुमति दी गई।  जिस पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी ने  आपत्ति जताई है।

ये भी पढ़ें – शिवराज कैबिनेट की अहम बैठक आज, कई प्रस्तावों को मिलेगी मंजूरी, इन मुद्दों पर चर्चा संभव

जिला प्रशासन के आदेश के बाद कांग्रेस जिला अध्यक्ष अजय सिंह ने कलेक्टर को सम्बोधित करते हुए वीडियो जारी करते हुए कहा कि किराना दुकानों को खोलने सम्बन्धी आपका आदेश पढ़ा। आपका आभार, धन्यवाद कि आपने हमारी मांग पर यह उचित फैसला लिया। किन्तु पूरे आदेश को पढ़ कर ताज्जुब भी हुआ कि किराना दुकान के साथ शराब की दुकान भी खोली जाएगी ? पहले लगा कि प्रशासन को आम जनता पर तरस आ गया है, किन्तु आदेश के बाद लगा कि कहीं शराब दुकाने खोलने के उद्देश से तो किराना दुकान भी खोली गई।

ये भी पढ़ें – दर्द भरा ट्वीट वायरल, लाखों का दान भी नहीं दिला पाया माँ के लिए अस्पताल में बेड

कांग्रेस जिला अध्यक्ष ने कहा कि आज नगर में किराने वालो के अलावा इलेक्ट्रिक, अनाज, कृषि यंत्र, कपड़ा, कटलरी, फुटकर व्यापारी, सायकल रिपररिंग, टीवी मैकेनिक आदि आवश्यक वस्तुओं की कमी भी है और दुकानदार को भी कमाई की आवश्यकता है। अतः ऐसी परिस्थिति में इन सभी दुकानों को खोलने की अनुमति प्रदान की जानी चाहिए थी ना कि शराब दुकान को प्राथमिकता से खोला जाता। कांग्रेस जिला अध्यक्ष का ये वीडियो सोशल मीडिया पर अब वायरल हो रहा है।