उच्च शिक्षा मंत्री की दो टूक, आरडीयू के हक में किसी तरह का अड़ंगा पसंद नहीं है

रानी दुर्गावती का इतिहास क्या रहा है साथ ही और भी महापुरूषों ने देश के लिए क्या योगदान दिया है इसकी जानकारी युवा वर्ग तक पहुंचे पर काम करने की जरूरत है। 

जबलपुर, संदीप कुमार। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय (आरडीयू) के हक में कोई भी अडंगा नहीं लगाया जायेगा, विश्वविद्यालय के विकास हेतु जो बनेगा वो सब किया जाएगा, जरूरत पड़ी तो मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री से भी बात करूंगा, सभी लोग ये अच्छे से समझ लें कि आरडीयू के हक में किसी तरह का अड़ंगा पसंद नहीं है, यह बात रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय (आरडीयू) में आयोजित राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति कार्यक्रम में मुख्य अतिथि की आसंदी से उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव (Higher Education Minister Dr Mohan Yadav) ने कही।

ये भी पढ़ें – सरकार ने कर्मचारियों को दिया तोहफा, मिलेगा एडिशनल अलाउंस, जानें डिटेल्स

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने कहा कि आरडीयू का नाम पूरे देश में हो, शैक्षणिक व्यवस्थाएं बेहतर हो इस पर काम किया जा रहा है, रानी दुर्गावती का इतिहास क्या रहा है साथ ही और भी महापुरूषों ने देश के लिए क्या योगदान दिया है इसकी जानकारी युवा वर्ग तक पहुंचे पर काम करने की जरूरत है।  कार्यक्रम में केंंट विधायक अशोक रोहाणी, कुलपति प्रो. कपिल देव मिश्र सहित आरडीयू स्टाफ मौजूद था।

ये भी पढ़ें – कांग्रेस में शुरू होगा बैठकों का दौर, आगामी उपचुनाव के लिए इन प्रत्याशियों के नाम पर लगेगी मुहर!

कार्यक्रम में शामिल होकर उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में नए-नए कोर्स खोले जाए इसके लिए मंथन चल रहा है, साथ ही आर.डी.वी.वी को 100 एकड़ जमीन प्रशासन दिलाने के लिए चर्चा हो रही है साथ ही उच्च शिक्षा विभाग से 5 करोड़ देने पर विचार चल रहा है। बजट से आरडीयू नए भवन और कोर्स की शुरूआत कर सकेगा।

ये भी पढ़ें – Ola Electric Scooter का नया धमाका, 24 घंटे में 1 लाख स्कूटर की बुकिंग कर चौंकाया