केंद्रीय दल ने फसल क्षति का किया आंकलन ,किसानों की मदद का दिया आश्वासन

जिला प्रशासन के द्वारा किए गए फसल क्षति सर्वे कार्य की तारीफ की।

होशंगाबाद, राहुल अग्रवाल। जिले के ग्रामों में इंटर मिनिस्ट्रियल केंद्रीय दल द्वारा पिछले दिनों आयी बाढ़ और अतिवर्षा के कारण क्षत्रिग्रस्त हुई फसलों को देखने खेतों में पहुंचे । केंद्रीय दल के साथ कलेक्टर धनंजय सिंह, कृषि विभाग से संयुक्त संचालक जितेंद्र सिंह ,अनुविभागीय अधिकारी आदित्य रिछारिया तहसीलदार शैलेंद्र बड़ोनिया एवं अन्य प्रशासनिक अमला, सरपंच खेड़ला सरवन मीना, पर्रादेह सरपंच कन्हैया लाल वर्मा ने टोल नाके के पास सोयाबीन की फसल देखी और किसानो से बात कर फसल के नुकसान की जानकारी ली । किसान द्वारा लगाई लागत के बारे में चर्चा की गई और जल्द ही केंद्र सरकार से मुआवजा देने की बात की गई। कलेक्टर धनंजय सिंह ने किसानों से कहा प्रदेश सरकार से भी राहत राशि मिलेगी।

साथ ही आईएमसीटी टीम द्वारा किसानों से विस्तृत चर्चा की गई एवं उनकी फसलों को हुए नुकसान के संबंध में जानकारी ली। कृषि वैज्ञानिक केके मिश्रा द्वारा बताया गया कि इस बार सोयाबीन की फसलों में प्रमुख रूप से रेक्टोजोनिया रूट चार्ट एवं लीफ स्पॉट बीमारी अधिक देखी गई तथा जिले में हुई भारी वर्षा से कीट व्याधि के प्रकोप में वृद्धि हुई है, जिससे फसलों को बहुत अधिक नुकसान हुआ है। सर्वे दल ने पटवारियों द्वारा किए गए फसल क्षति रिपोर्ट का निरीक्षण किया, उन्होंने जिले में हुए फसल क्षति सर्वे कार्य की सराहना की।