कांग्रेस विधायक ने सत्ता पक्ष पर उठाए सवाल, कंगना और सलमान खुर्शीद को लेकर कही ये बात

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में गुरुवार को कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह पहुंचे। उन्होंने रेसीडेंसी पर मीडिया से चर्चा करते हुए ज्वलंत मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखी। इंदौर में राजनीति से लेकर ताजा विवादों को लेकर भी उन्होंने स्पष्ट रुख रखा।

ये भी देखें- कोरोना अलर्ट : हो जाइए सतर्क, फिर बढ़ रहे कोरोना के मामलें, अब डॉक्टर्स हुए संक्रमित

इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधायक लक्ष्मण सिंह ने कंगना रनौत को लेकर तंज कसते हुए कहा कि- मुझे पता नहीं था, कंगना रनौत कलाकार के होने के साथ-साथ इतिहासकार भी हैं। कंगना को बयान देने से पहले इतिहास पढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा पब्लिसिटी के लिए कंगना इस तरह के बयान देती हैं। कंगना को महात्मा गांधी के ऊपर टिप्पणी करने से बचना चाहिए।

इसके अलावा उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि वो प्रजातंत्र के हिसाब से नहीं बल्कि डिक्टेटर बनकर देश चला रहे हैं जो प्रजातंत्र के लिहाज से ठीक नहीं है। इधर, मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार द्वारा हटाये गए कोरोना प्रतिबंधों को लेकर उन्होंने कहा कि- इसमें शासन जल्दी कर रहा है। विश्वभर में कोरोना की तीसरी लहर की चेतावनी जारी की जा चुकी है। ऐसे में मध्यप्रदेश में सरकार की क्या मंशा है, ये तो सरकार ही जाने, लेकिन कोरोना प्रतिबंधों को हटाए जाने को लेकर एक बार फिर सरकार को विचार करना चाहिए।

इधर, अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की विवादित किताब को लेकर कांग्रेस विधायक ने कहा की चुनाव के समय इस तरह की किताबों का लॉन्च नहीं करना चाहिए। सलमान खुर्शीद के वायरल वीडियो “लेकर रहेंगे आजादी” को लेकर कहा की आजादी तो कब से मिल गई है। इस तरह की बात बच्चों को सिखाना सही नहीं है। उन्होंने कहा कि खुर्शीद एक बड़े नेता हैं, सेक्युलर पार्टी का हिस्सा हैं, ऐसे में उन्हें ऐसी किताब नहीं लाना थी।

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को लेकर लक्षमण सिंह ने कहा कि वो यूपी में अच्छी मेहनत कर रही हैं लेकिन उन्हें इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि 400 सीटों पर यूपी में चुनाव होना है। ऐसे में वो देशभर में घर पर बैठे प्रतिभाशाली और अनुभवी नेताओं के अनुभव का लाभ लें। इसके लिए वो हर चार बूथ पर एक नेता को जिम्मेदारी दें, निश्चित ही परिणाम बेहतर होंगे।