इंदौर में दिखेगा झांकियों का कारवां, अखाड़े भी करेंगे प्रर्दशन, लाखों लोगों की उमड़ेगी भीड़, ऐसी रहेगी यातायात व्यवस्था

Anant Chaturdashi, Indore Jhanki, indore news

Indore Jhanki : अनंत चतुर्दशी के दिन इंदौर में कई सालों से झांकियों का कारवां देखने को मिलता है। इंदौर की झांकियों को देखने के लिए दूर-दूर से लाखों लोग आते हैं। शाम 6 बजे से सुबह 4 बजे तक लोग झांकी देखने का आनंद लेते हैं। इस साल भी परंपरा अनुसार आज यानी 28 सितंबर के दिन लाखों लोग झांकियों का कारवां देखने के लिए इंदौर पहुंचेंगे। श्रीराम दरबार, सीता हरण, भोले की बारात और छत्रपति शिवाजी का राज्याभिषेक तक की झांकियों को देखने का मौका लोगों को मिलेगा। ये झांकी मालवा मिल से लेकर हुकुमचंद मिल द्वारा बनाई जाती है।

इस साल एक और नई झांकी इसमें शामिल होने वाली है जो गीता रामेश्वरम ट्रस्ट द्वारा बनाई गई है। अगर आप भी झिलमिलाती झांकियों को देखने आ रहे हैं तो आपको हम आज निकलने वाले चल समारोह की पूरी जानकारी देने जा रहे हैं। साथ ही यातायात व्यवस्था के बारे में भी बता रहे हैं ताकि आपको किसी भी तरह की कोई समस्या ना हो और आप अपने परिवार वालों के साथ सही जगह पर पहुंच जाए और झांकियों का कारवां देख सके। चलिए जानते हैं पूरी जानकारी –

शाम 6 बजे से शुरू हो जाएगा Chal Samaroh 

Indore Jhanki

झिलमिलाती झांकियों का कारवां आज शाम 6 बजे से शुरू हो जाएगा। सबसे पहले खजराना गणेश की झांकी निकाली जाएगी उसके बाद नगर निगम, इंदौर विकास प्राधिकरण की झांकियों का काफिला आपको चल समारोह में देखने को मिलेगा। ये चल समारोह देखने के लिए लोग पहले से ही अपनी जगह रोक कर रखते हैं। आप भी शाम को झांकी देखने जाना चाहते हैं तो सही जगह पर जा कर बैठ जाएं। आप घूम कर भी इसे देख सकते हैं लेकिन लाखों लोगों की भीड़ में आपको परेशानी हो सकती है।

100 साल पहले शुरू हुआ था झांकियों को निकालने का कारवां

इंदौर में झांकियों की शुरुआत 100 साल पहले हुकुमचंद मिल द्वारा शुरू की गई थी। आज भी ये परंपरा लगातार जारी है। कपड़ा मिलों के बंद होने के बाद भी हर साल जोरदार तरीके से झांकियां बना कर निकाली जाती है। अनंत चतुर्दशी के दिन निकलने वाले चल समारोह में इसे शामिल किया जाता है।

इस साल ये Jhanki लुभाएंगी

Indore Jhanki

हुकुमचंद्र मिल समिति द्वारा वामन अवतार, चंद्रयान 2023 और कृष्ण लीला को शानदार तरीके से प्रदर्शित किया गया है। वहीं राजकुमार मिल की समिति द्वारा बच्चों के गीत लकड़ी की काठी आधारित झांकी और खाटू श्याम दर्शन और पूतना वध दिखाया गया है।

मालवा मिल द्वारा छत्रपति शिवाजी और महाराणा प्रताप के अलावा श्री राम दरबार और कालिया मर्दन का प्रदर्शन किया गया है, तो स्वदेशी मिल ने सीता हरण के पूर्व रावण को भिक्षा मांगते हुए और जटायु को लड़ते हुए दिखाया है, इसी की दूसरी झांकी में भोले बाबा की बारात भी देखने को मिलेगी।

इसी तरह कल्याण मिल की झांकी में माता सीता द्वारा श्रीराम की लंबी आयु के लिए मांग में सिंदूर भरने के बाद हनुमानजी रामजी के लिए पूरे शरीर पर सिंदूर मलते है और श्रीराम उन्हें गले लगा लेते है। इस झांकी में हनुमानजी की 18 फीट की मूर्ति है। दूसरी झांकी श्रीकृष्ण की रास लीला पर आधारित है।

दिखेगी Indore विकास प्राधिकरण की योजना

आईडीए की एक झांकी में इंदौर विकास प्राधिकरण के विकास कार्य पर आधारित है। छत्रपति शिवाजी का रायगढ़ जिले में राज्याभिषेक दिखाया गया है तो तीसरी झांकी में कारागार में देवकी और नंद बाबा के साथ भगवान कृष्ण का जन्म देखने को मिलेगा।

अखाड़े भी करेंगे प्रर्दशन

इस चल समारोह में प्रत्येक झांकी के पहले एक अखाड़ा भी रहेगा जिसमें कलाकार, विभिन्न तरह से शारीरिक कला और शस्त्र कला का प्रदर्शन होगा। सभी झांकियों और अखाड़ों का क्रम पिछल साल की तरह ही रहेगा।

पहली बार शामिल होगी ये झांकी

कांग्रेस नेता और गीता रामेश्वरम ट्रस्ट के सत्यनारायण पटेल द्वारा भी इस वर्ष झांकी बनवाई गई है चल समारोह में पहली बार गीता रामेश्वरम ट्रस्ट की श्री राम दरबार की झांकी भी शामिल होगी। ज्ञात हो कि पटेल ने सभी मिलों की झांकियां के लिए भी आर्थिक सहयोग किया है।

ऐसी रहेगी यातायात व्यवस्था

झांकियां चिकमंगलूर चौराहा पर एकत्रित होकर चिकमंगलूर चौराहा से जेल रोड चौराहा, एम.जी.रोड चौराहा, मृगनयनी, फ्रूट मार्केट, नंदलालपुरा, जवाहर मार्ग, नरसिंह बाजार, क्लॉथ मार्केट, खजूरी बाजार से राजवाड़ा से मृगनयनी, नगर निगम तक जाएगी। ऐसे में ये मार्ग पूरी तरह से रहेंगे बंद तो आप भूलकर भी इन मार्गों पर अपनी गाड़ियां ना ले जाएं। ये है प्रतिबंधित मार्ग –

  • भागीरथ पुरा टी से भंडारी ब्रिज तिराहा की ओर जाने वाला मार्ग
  • रीगल चौराहा से शास्त्री ब्रिज, मृगनयनी की ओर जाने वाला मार्ग
  • सैफी चौराहा से संजय सेतु, नंदलालपुरा की ओर जाने वाला मार्ग
  • नगर निगम चौराहा से मृगनयनी चौराहा एवं चिकमंगलूर चौराहा की ओर जाने वाला मार्ग
  • राजकुमार ब्रिज से डीआरपी चौराहा की ओर जाने वाला मार्ग
  • रामबाग से, महेश जोशी टी से सुभाष पानी की टंकी से ए.सी.पी कार्यालय मल्हारगंज बड़वाली चौकी, इतवारिया बाजार, सब्जीमण्डी से दरगाह चौराहा से मच्छी बाजार, पंढरीनाथ थाना टी, गौतम पुरा टी, कबुतरखाना चौकी तक कोई वाहन नहीं जाएंगे। हालांकि इन मार्गों पर आप पैदल आ जा सकेंगे।

About Author
Avatar

Ayushi Jain

मुझे यह कहने की ज़रूरत नहीं है कि अपने आसपास की चीज़ों, घटनाओं और लोगों के बारे में ताज़ा जानकारी रखना मनुष्य का सहज स्वभाव है। उसमें जिज्ञासा का भाव बहुत प्रबल होता है। यही जिज्ञासा समाचार और व्यापक अर्थ में पत्रकारिता का मूल तत्त्व है। मुझे गर्व है मैं एक पत्रकार हूं। मैं पत्रकारिता में 4 वर्षों से सक्रिय हूं। मुझे डिजिटल मीडिया से लेकर प्रिंट मीडिया तक का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कंटेंट राइटिंग, कंटेंट क्यूरेशन, और कॉपी टाइपिंग में कुशल हूं। मैं वास्तविक समय की खबरों को कवर करने और उन्हें प्रस्तुत करने में उत्कृष्ट। मैं दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली से संबंधित विभिन्न विषयों पर लिखना जानती हूं। मैने माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी से बीएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में ग्रेजुएशन किया है। वहीं पोस्ट ग्रेजुएशन एमए विज्ञापन और जनसंपर्क में किया है।

Other Latest News