congress-canditate-of-indore-seat-pankaj-singhvi-statement

इंदौर| इंदौर से कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी एक बार फिर बीजेपी को चुनौती देने को तैयार है। हालांकि ये बात ओर है कि वो अब तक ना तो विधायक, ना ही सांसद और ना महापौर का चुनाव जीत पाये लेकिन इस बार उन्हें उम्मीद है समीकरण बदल सकते है और जीत उनकी झोली में आ सकती है। अपने राजनीतिक जीवन मे महज एक बार पार्षद का चुनाव जीतने वाले पंकज संघवी 2019 में उसी पार्टी को चुनौती दे रहे जिस पार्टी के उम्मीदवार बनकर पहली बार चुनाव जीते थे। इसके बाद बीजेपी छोड़कर वो कांग्रेस में शामिल हो गए थे और अब उसी बीजेपी पर संघवी सवाल भी उठा रहे है। 

दरअसल, बात महापौर चुनाव 2009 की है जब आखरी दौ�� की मतगणना के दौरान अचानक आगे चल रहे पंकज संघवी बीजेपी के कृषमुरारी मोघे से हार गए थे इसके बाद तमाम सवाल कांग्रेस और संघवी ने उठाये थे। इसी बात का जिक्र करते हुए संघवी ने शनिवार को मीडिया से कहा कि अब किसी भी तरह की धांधली नही करने दी जाएगी। वही उन्होंने बताया कि 24 अप्रैल को कांग्रेस कार्यालय का उद्धघाटन किया जाना है इसके बाद उनके चुनावी कार्यालय का उद्घाटन किया जाएगा। संघवी फिलहाल चुनावी रणनीति के तहत कांग्रेस के हारे व जीते हुए विधायकों से मिल रहे है। इधर, संघवी ने विश्वास जताया कि वे इस बार जीत हासिल कर ही मानेगे।