हाथी ने मचाया ऐसा उत्पात की हो गया सबकुछ तहस नहस, बमुश्किल प्रशासन ने पाया हाथी पर काबू

इंदौर, आकाश धोलपुरे

देश ही नही बल्कि दुनिया में अपने गुस्से के कारण प्रसिद्ध हो चुके इंदौर के एक हाथी ने फिर से निगम प्रशासन की नाक में दम कर दिया है। जी हाँ ! आप सही सोच रहे है हम बात कर रहे है इंदौर कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय में वर्षों से रह रहे मोती हाथी की, जिसके गुस्से के किस्से देश दुनिया मे मशहूर है। मंगलवार रात को मोती ने एक बार फिर जमकर उत्पात मचाया और उसने पूरे बाड़े को गुस्से में आकर तहस-नहस कर दिया है। बता दें कि अक्सर साल भर में एक या दो बार मोती हाथी ऐसा हंगामा खड़ा कर देता है कि ज़ू प्रशासन को मुश्किलों से दो चार होना पड़ता है।

दरअसल, इंदौर के प्राणी संग्रहालय में वर्षो से रह रहे मोती को मंगलवार रात करीब 1 बजे से 2 बजे की बीच इतना गुस्सा आया कि उसने आव देखा न ताव और पूरे बाड़े को अपने एग्रेशन के चलते क्षतिग्रस्त कर दिया। बाड़ें में मोती ने उन मज़बूतो पिल्लरों को नेस्तोनाबूद कर दिया, जिन्हें तोड़ना आम आदमी या किसी जेसीबी मशीन के लिए आसानी से तोड़ पाना असंभव है।

इंदौर ज़ू प्रभारी उत्तम यादव ने बताया कि देर रात मोती हाथी ने बाड़े को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया है और इसके पहले भी कई दफा हाथी ने बाड़े को काफी नुकसान पहुंचाया है। वही चिड़ियाघर प्रभारी उत्तम यादव ने ये भी मोती हाथी मस्क पीरियड में है और अक्सर ऐसे कंडीशन में हाथी बुरी तरह से एग्रेसिव हो जाते है और वह आसपास की चीजों को नुकसान पहुंचाने लगते है।

डॉक्टर उत्तम यादव ने बताया कि फिलहाल, मोती हाथी काबू में है और उसका इलाज शुरू कर दिया है। वही उसे ऑब्जरवेशन में भी रखा गया है। इधर, ज़ू प्रबंधन ने मोती के बाड़े को मजबूती से पुनर्निर्माण के लिए कई इंजीनियरो को बुलाया है ताकि भविष्य में मोती इस तरह से नुकसान न कर सके और मजबूत बाड़े का निर्माण किया जा सके।