indore

इन्दौर, आकाश धोलपुरे। एक तरफ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) द्वारा कोरोना की डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर अलर्ट जारी किया गया है, वही दूसरी तरफ शिवपुरी, उज्जैन और अशोकनगर में 6 मौतों के बाद इंदौर जिले में डेल्टा प्लस (Delta Plus Variant) की आशंकाओं को देखते  विशेष प्रबंध करना शुरु कर दिए गए है। हरेक कोरोना पॉजिटिव मरीज को गंभीरता से लेकर उसे कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया जा रहा है।इसके लिए इंदौर कलेक्टर (Indore Collector) ने अधिकारियों को निर्देश जारी किए है।

यह भी पढ़े.. खुशखबरी- मध्य प्रदेश की यह सड़कें होंगी फोरलेन, PWD मंत्री ने मांगा कार्पोरेशन से प्रस्ताव

इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह (Indore Collector Manish Singh) ने बताया कि इंदौर जिले में कोरोना के डेल्टा प्लस वैरियंट की आशंकाओं को देखते हुये विशेष प्रबंध किये जा रहे है। जिले में विशेष सावधानी और सतर्कता रखी जा रही है। जिले में हरेक कोरोना पॉजिटिव (Indore Fight Coronavirus) मरीज को गंभीरता से लेकर उसे कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया जा रहा है। संबंधित मरीज के घर को कन्टेनमेंट झोन बनाकर उनके परिजनों को निर्धारित समय में आइसोलेशन में रखा जायेगा। संबंधित मरीज के संपर्क में आने वाले परिजनों और साथियों की ट्रेसिंग कर उन सभी की सैपलिंग कराई जायेगी।

कइंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि देशी-विदेशी मदिरा की दुकानों (Indore liquor shops) में आने वाले लोगों को भी टीकाकरण के लिये प्रेरित किया जायेगा। इसके लिये आबकारी विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये है। जिले में शासकीय कार्यालयों में शासकीय योजनाओं का लाभ प्राप्त करने तथा शासकीय सेवाओं को प्राप्त करने के लिये आने वाले नागरिकों को टीकाकरण के लिये विशेष रूप से प्रेरित किया जायेगा। उनसे पूछा जायेगा कि आपको टीका लगा है या नहीं। अगर उन्हें टीका नहीं लगा है, तो उन्हें टीका लगवाने के लिये प्रेरित किया जायेगा। इस संबंध में कार्यालय प्रमुखों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र में जारी रहेगा झमाझम का दौर, 1 दर्जन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि जिले में भले ही कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या कम हो रही है, फिर भी प्रशासनिक स्तर पर विशेष सावधानी एवं सतर्कता रखी जा रही है। सभी अपर कलेक्टर, एसडीएम (Indore SDM), तहसीलदार आदि को निर्देश दिये गये है कि वे प्रतिदिन पूर्वान्ह में टीकाकरण  और कोविड मैनेजमेंट पर ध्यान दें। इस संबंध में क्षेत्र का सतत भम्रण कर निगरानी रखें। अपरान्ह में वे राजस्व संबंधी कार्यों को निराकृत करें। जिले में टीकाकरण महा-अभियान का सफलतापूर्वक आयोजन किया जा रहा है। अभी भी अनेक ऐसे क्षेत्र है, जहां टीकाकरण कम हुआ है और वहां टीकाकरण के प्रति उदासिनता है। ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित कर वहां पर टीकाकरण के लिये विशेष प्रयास किये जायेंगे।