इंदौर में हुई लाखों की धोखाधड़ी का पुलिस ने किया पर्दाफाश

fraud-of-lakhs-in-indore-police-arrested-

इंदौर. इंदौर के परदेशीपुरा थाना क्षेत्र में बीते दिनों एक एटीएम मशीन में से 21 लाख 36 हजार  रुपए गायब होने का मामला सामने आया था जिसके बाद एक सप्ताह के भीतर पुलिस ने इस चोरी का पर्दाफाश किया और एक आरोपी को धरदबोचा। एडिशनल एस. पी. प्रशांत चौबे ने बताया कि बीती 15 जून को एसआईएस प्रो.सिक्योर कंपनी के असिस्टेंट मैनेजर हरिओम यादव ने परदेशीपुरा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि  इलेक्ट्रॉनिक कॉम्प्लेक्स के सामने स्थित एसबीआई के एटीएम से किसी अज्ञात ने 21 लाख 36 हजार रुपुए चुरा लिए हैं।  जिसके बाद पुलिस ने मामले की जांच करते हुए पुलिस ने कम्पनी के जोनल हेड कुंदन झा एवं सीनियर मैनेजर आशीष सिंह से पूछताछ की इसमें उन्होंने बताया कि एटीएम मशीन कीबोर्ड ओपन करने के लिए जो पासवर्ड उपयोग होता है वह केवल कस्टेडियन विजय जीनवाल व अंकित सोलंकी ही प्राप्त कर सकते हैं । इसके बाद पुलिस ने विजय जिनवाल को हिरासत में लिया।

सख्ती से पूछताछ करने पर विजय ने लाखों की चोरी करना कबुल किया हालाँकि आरोपी विजय का एक और साथी अंकित अभी भी पुलिस की गिरफ्त में नही आया है। आरोपी विजय ने पुलिस को बताया कि उन्होंने बोल्ट ओपन करने के लिए पासवर्ड मंगवा कर, बोल्ट ओपन किया । इस दौरान आरोपियों ने मशीन में पैसे ना डालकर एटीएम की मशीन में मैनुअली 21 लाख 36 हजार की एंट्री डाल दी। जिससे बैंक व कम्पनी के सिस्टम में लाखों का हिसाब अपडेट हो गया। आरोपी विजय ने बताया कि एंट्री करने के बाद मशीन की बैटरी चेंज करने तथा डायलर लटके होने व एटीएम का लॉक नहीं खुलने की झूठी सूचना अपने आला अधिकारियों को देते रहे। पुलिस ने आरोपी विजय से फिलहाल 5 लाख 50 हजार रुपये बरामद किए है और उससे पुलिस की पूछताछ जारी है।