Indore: हमलावरों ने कबूला – उकसाने पर किया, डॉक्टरों पर वार

इंदौर।

इंदौर के टाटपट्टी बाखल में स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने वाले हमलावरों को पुलिस ने जेल भेज दिया। हमले में शामिल 10 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिसके बाद पूछताछ में उन्होंने बताया कि अपनी कॉलोनी के समोसे वाली चाची के उकसाने पर उन लोगों डॉक्टरों पर हमला किया था। दूसरी तरफ पुलिस एवं खुफिया विभाग द्वारा यह माना जा रहा है कि टाटपट्टी बाखल में हुई घटना रानीपुरा और बड़वाली चौकी का बदला है।जिसके बाद स्पेशल टास्क फोर्स इस मामले की गहन छानबीन कर रही है।

हिरासत में गए हमलावरों ने बताया पड़ोस में जब डॉक्टर महिला की स्क्रीनिंग कर रहे थे तो वह जोर-जोर से शोर करने लगीं। जिसके बाद वहां के लोगों ने डॉक्टर से आपत्ति जाहिर की और डॉक्टरों की टीम पर हमला बोल दिया। बता दे कि डॉक्टर्स पर पत्थर फेंकने के अलावा डंडे भी चलाए गए थे। पुलिस के पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि हमने डॉक्टर को समझाने की काफी कोशिश की किंतु उनके ना मानने के बाद हमने उन पर पथराव शुरू कर दिया। वहीं पुलिस ने इस मामले में गुरुवार को मोहम्मद मुस्तफा, मोहम्मद गुलरेज, शाहरुख खान, मुबारिक, सोहेब, मज्जू व नौशाद कादरी को हिरासत में ले लिया था।

दूसरी तरफ पुलिस के मुताबिक हमले में शामिल मज्जू इससे पहले भी कई सांप्रदायिक दंगे, हथियार की खरीद-फरोख्त और पुलिस पर गोली चलाने के आरोप में जेल जा चुका है। जिसके बाद पुलिस एवं खुफिया विभाग ने यह आशंका जताई है कि टाटपट्टी बाखल में हुई घटना रानीपुरा और बड़वाली चौकी का बदला है। दरअसल रानीपुरा में जब डॉक्टरों की टीम ने लोगों के जांच सैंपल ले उनकी स्क्रीनिंग शुरू की तो वहां पर लोगों ने इसका विरोध किया था। जिसके बाद प्रशासन ने सभी को आइसोलेट कर दिया था। बड़वाली चौकी में लंबे समय से हो रहे प्रदर्शन को भी पुलिस द्वारा बंद करवा देने के बाद वहां के लोगों ने इसके प्रति गंभीर नाराजगी जाहिर की थी। स्पेशल टास्क फोर्स इस मामले की गहन छानबीन कर रही है और उन्हें आशंका है कि षड्यंत्र के तहत इस कार्य को अंजाम दिया गया है। वहीं वीडियो में दिख रही संदिग्ध महिला की खोजबीन भी जारी है।