लॉकडाउन को लेकर प्रशासन सख्त, उबर एम्बुलेंस और सब्जी व्यवस्था को लेकर कलेक्टर ने कही ये बात

इंदौर| आकाश धोलपुरे | क्या 3 मई के बाद इंदौर (Indore) में जिंदगी पटरी पर लौट आएगी ये सवाल हर शहरवासी के जेहन में है लेकिन इस सवाल का जबाव आज इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह (Collector Manish SIngh) ने दे दिया है। उन्होंने साफ किया कि 3 तारीख के बाद कुछ कुछ चुनिंदा एक्टिविटीज जैसे इकॉनामिक एक्टिविटी के लिये छूट दी जा सकती है जैसे फैक्ट्री में मजदूरो को वही रख कर काम कराया जाए | लेकिन सामान्य लोगो की छूट की बात करे तो कलेक्टर ने कहा है कि मुझे नही लगता है कि इंदौर अभी उस स्थिति में है कि हम लोगो को घर से निकलने फ्री छूट दे सके।

नगर निगम, मंडी प्रशासन और चोइथराम मंडी के व्यापारियों की चर्चा के बाद प्रशासन इस नतीजे पर पहुंचा है। आगामी 3 से 4 दिन में लोगो को सब्जियां घरों तक पहुंचाई जा सकेगी। प्रशासन ने एक योजना के तहत किराना वस्तु विक्रेताओं को ही जिम्मेदारी सौंपकर पैकेट के जरिये डोर टू डोर सब्जी का विक्रय करने की योजना बनाई है। इसके लिए प्रशासन ने खंडवा रोड़ बायपास के आगे 8 से 10 संस्थान चुने है जहां किसानों से सब्जी खरीदी जाएगी और देवास, महू और निमाड़ से सब्जी आसानी से सप्लाय होगी।

ड्यूटी ज्वाइन नही करने पर होगी एफआईआर
इधर, पैरामेडिकल स्टाफ (Paramedical staff) पर कार्रवाई के संबंध में कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि पुलिस पहले स्टाफ के लोगो के घर जाएगी और ड्यूटी ज्वाइन करने को कहेगी और अगर स्टाफ के लोग ड्यूटी ज्वाइन नही करते है तो उनके खिलाफ एफआईआर होगी। वही उन्होंने साफ किया की ड्यूटी पर नही आने वाले सरकारी डॉक्टरों के खिलाफ भी होगी कार्रवाई और कोविड केयर अस्पतालों में उनकी ड्यूटी लगाई जाएगी।

केंद्र का दल इंदौर से संतुष्ट
कलेक्टर इंदौर ने ये भी बताया कि ओला के बाद हमने उबर को भी 50 एम्बुलेंस चलाने की अनुमति दी है ताकि मरीजों को अस्पताल जाने में कोई परेशानी न हो। वही उन्होंने कहा कि केंद्र का दल इंदौर से संतुष्ट हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here