सरकारी नीतियों के विरोध में बैंककर्मियों का प्रदर्शन, करोडों का लेन-देन प्रभावित

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

बैंकिंग क्षेत्र से जुड़ी केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में बुधवार को बैंककर्मी हड़ताल पर रहें इसमें राष्ट्रीयकृत बैंक, निजी क्षेत्र के बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के कर्मचारी शामिल रहे। एक दिवसीय हड़ताल की वजह से बैंकों  में दिनभर काम नही होगा साथ ही  हड़ताल की वजह से करोड़ों रुपए का लेन-देन भी प्रभावित हो रहा है । यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के संयोजक मोहनकृष्ण शुक्ला ने बताया कि बैंकों के निजीकरण, आम ग्राहकों से मनमाने शुल्क और आउट सोर्सिंग की प्रथा का विरोध किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कर्मचारी-अधिकारी सुबह साढ़े 10 बजे सांठा बाजार स्थित बैंक ऑफ इंडिया के सामने इकट्ठा हुए जिसके बाद  पहले प्रदर्शन किया गया। इसके बाद बैंककर्मी ने रैली निकाली , जो सांठा बाजाार से शुरू होकर बोहरा बाजार, बड़ा सराफा, पीपली बाजार, बर्तन बाजार होते हुए बजाज खाना चौक पहुंची फिर कर्मचारी संगठन के पदाधिकारी ने सभा को संबोधित किया। यदि केंद्र सरकार ने कर्मचारियों की मांगें नही मानी तो आने वाले समय मे बैंककर्मियों और संगठनों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी दी है।