Indore News: परिवहन चेकपोस्ट पर गुंडागर्दी, हो रही अवैध वसूली, ट्रक ऑपरेटर्स एसोसिएशन ने लिखा CM मोहन यादव को पत्र, कार्रवाई की मांग

मध्यप्रदेश चेकपोस्ट पर वाहन चालकों से हो रही अवैध वसूली को लेकर इंदौर ट्रक ऑपरेटर्स एंड ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

checkpost

Indore News: मध्यप्रदेश परिवहन चेक पोस्ट पर बढ़ रही गुंडागर्दी को लेकर इंदौर ट्रक ऑपरेटर्स एंड ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने सीएम मोहन यादव (CM Mohan Yadav) को पत्र लिखा है। साथ ही इस मामले में संज्ञान लेते हुए सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। दरअसल, प्रदेश के परिवहन चेकपोस्ट पर वाहन चालकों और वाहन मालिकों से अवैध वसूली की खबरें लगातार सामने आ रही है। परिवहन विभाग को इस बात की शिकायत कई बार करने के बाद कोई एक्शन नहीं लिया गया है।

पत्र में एसोसिएशन ने क्या लिखा?

पत्र में एसोसिएशन के अध्यक्ष सीएल मुकाती ने लिखा, “हमारी संस्था को वाहन चालकों एवं वाहन मालिकों से हर दिन चेकपोस्टों पर शिकायत मिलती है परिवहन कानून का हवाला देकर अवैध वसूली और गुंडागर्दी हो रही है। इसकी शिकायत इससे पहले प्रदेश शासन और परिवहन विभाग में पत्रों के माध्यम से कई बार की गई।

क्या मामले को किया जा रहा अनदेखा?- एसोसिएशन अध्यक्ष

पत्र में उन्होनें आगे लिखा, “परिवहन चेक पोस्ट को गुंडे बदमाश एवजी और कुछ रिटायर्ड आरटीआई, परिवहन आरक्षक करते हैं। मासिक ठेके पर वसूली की जाती है। जग जाहीर है मगर प्रदेश शासन और प्राशन को इतना बड़ा भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी दिखाई और सुनाई क्यों नहीं देता। या इस मामले को अनदेखा किया जा रहा है।

पत्र के जरिए कार्रवाई की मांग और राहत प्रदान करने का अनुरोध 

एसोसिएशन के अध्यक्ष ने सीएम मोहन यादव से इस मामले में संज्ञान लेकर दोषी अधिकारियों पर साखर कार्रवाई करने की मांग की है। पत्र में उन्होनें ने लिखा, “मध्यप्रदेश में डबल इंजन की सरकार है। पीएम नरेंद्र मोदी का सपना भी है भ्रष्टाचार मुक्त देख और प्रदेश बने। यह सपना पूरा करने का भार आपके कंधे पर है। कृपया आप संज्ञान लेने हमारी आशाओं को पूरा कर मध्यप्रदेश के परिवहन चेक पोस्टों को बंद कर दोषी अधिकारी कर भ्रष्टाचार मुख्य मध्यप्रदेश बना कर वाहन चालकों और मालिकों को राहत प्रदान करें।”

 

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है।अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"