थाने में आरोपी की खातिरदारी पर गिरी गाज, दरोगा और 3 कॉन्स्टेबल सस्पेंड, TI को नोटिस

इंदौर। भाजपा विधायक की शिकायत पर पकड़ाए कथित एसपी को थाने में वीआईपी ट्रीटमेंट मिलने पर पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी है। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद खातिरदारी करने वाले दारोगा और तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही थानेदार को नोटिस जारी किया गया है।

दरअसल इंदौर के परदेशीपुरा थाने में शातिर ठग सुरेश उर्फ भेरिया भंवरलाल घांची का सिगरेट पीते हुए वीडियो सामने आने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। विधायक आकाश विजयवर्गीय से फर्जी आईपीएस बन 10 लाख रुपए मांगने वाले सुरेश उर्फ भेरिया को इंदौर पुलिस ने गिरफ्तार किया था। वह राजस्थान के पाली का रहने वाला है। अपना परिचय इंदौर पूर्व के एसपी के रूप में दिया था। इसके ऊपर फर्जीवाड़ा के करीब 60 से ज्यादा मामले दर्ज हैं।

वीडियो के बाद खुलासा हुआ कि आरोपी को वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा था। समय-समय पर चाय-नाश्ता मुहैया करवाया जा रहा था। जब मन तब इंटरनेट और मोबाइल चलाता था और खाने के बाद सिगरेट भी पीता था, यह सब थानेदार के सामने। सुरेश उर्फ भेरिया भंवरलाल घांची। मूलत: पाली (राजस्थान) निवासी भेरिया मजिस्ट्रेट, विधायक, एसपी बनकर राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, उप्र के 25 जिलों में लाखों रुपए ठग चुका है। उसे 13 जनवरी को क्राइम ब्रांच ने विधायक आकाश विजयवर्गीय की शिकायत पर पकड़ा था। वह एसपी (पूर्व) मोहम्मद यूसुफ कुरैशी बनकर 10 लाख रुपए मांग रहा था। इस वक्त भेरिया परदेशीपुरा थाने में पुलिस रिमांड पर है। लेकिन यहां उसे वीआईपी ट्रीटमेंट मिल रहा था। उसका वीडियो सोशल मीडिया पर थाने में सिगरेट पीता हुआ वायरल हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here