Indore: रफ्तार ने फिर छीनी जिंदगी, डिवाइडर से टकराने के बाद युवकों ने तोड़ा दम

इंदौर (Indore) के परदेशीपुरा थाना क्षेत्र में कल देर रात एक्सीडेंट हो गया जिसमें दो युवक की मौके पर मौत हो गई। ये युवक बुलैट मोटर साइकिल से जा रहे थे ऐसे में अचानक डिवाइडर से टकराने की वजह से दोनों घायल हो गए। जिसके बाद दोनों को तुरंत एमवाय अस्पताल ले जाया गया।

indore

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के इंदौर शहर (Indore) में गुरुवार देर रात एक जोरदार एक्सीडेंट हुआ जिसके चलते दो युवक की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि परदेशीपुरा थाना क्षेत्र में ये एक्सीडेंट हुआ। दरअसल दो बाइक सवार युवक बुलैट मोटर साइकिल से जा रहे थे ऐसे में अचानक डिवाइडर से टकराने की वजह से दोनों घायल हो गए। जिसके बाद दोनों को तुरंत एमवाय अस्पताल ले जाया गया। जानकारी के मुताबिक, जिन दो युवक की मौत हुई है उसमें से एक विशेष सशस्त्र पुलिस बल के कंपनी कमांडर का बेटा है। दरअसल, जब पुलिस रात को पेट्रोलिंग कर रही थी तब उन्हें इस एक्सीडेंट की सुचना मिली और वो मौके पर पहुंचे। पुलिस को क्षतिग्रस्त अवस्था में बाइक मिली।

Must Read : कर्मचारियों-पेंशनरों के लिए अच्छी खबर, मिलेगा एक और भत्ता का लाभ, ये रहेंगे नियम, खाते में आएंगे 36000 सालाना

वहीं दोनों युवक को भी पुलिस ने अस्पताल पहुंचाया। लेकिन दोनों की मौत हो चुकी थी। बताया गया है कि ये घटना परदेशीपुरा थाना क्षेत्र स्थित एमआर-4 पर हुई है। एसपी द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया है कि मृतकों की पहचान मयंक तोमर पुत्र रेवसिंह तोमर और मयंक पुत्र बाबलिया अजनारे से हुई है। जब ये घटना हुई तो इन युवकों की पहचान निकाल कर परिजनों को सुचना दी गई। जिसके बाद परिजन तुरंत अस्पताल पहुंचे। लेकिन तब तक दोनों युवक की मौत हो चुकी थी। ये देख कर परिजनों की हालत ख़राब हो गई। बता दे, इन दोनों युवक के पिता बड़ी पोस्ट पर है। एक के पिता सशस्त्र बल 15वीं बटालियन में कंपनी कमांडर (इंस्पेक्टर) है। वहीं दूसरे के पिता एसआइ के पद पर है।

इस घटना पर रेवसिंह तोमर ने बताया कि रात में इस नंबर 9669930016 से छोटे बेटे के पास काल आया था। तब कहा गया कि आपके बेटे का एक्सीडेंट हो गया। ये कॉल फ़ोन में आखिरी नंबर देखने के बाद किसी ने कॉल किया था। ऐसे में जब मैं घटनास्थल पर पहुंचा तो मेरे बेटे की साँस चल रही थी। डॉक्टर्स भी उसे सीआरपी दे रहे थे। लेकिन जब उसकी ईसीजी की गई तो वह मृत पाया गया। जिसके बाद रेवसिंह तोमर बुरी तरह से टूट गए। उन्होंने बताया कि उनका बेटा पहले एम्बुलेंस पर काम करता था। पुलिस ने बताया है कि दोनों के शव को आज पीएम के लिए भेजा जाएगा। साथ ही जहां घटना हुई है उस स्थल के सीसीटीवी फुटेज देखें जाएंगे। उसके बाद ही इस मामले को लेकर कुछ किया जा सकेगा।