तुलसी सिलावट

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में बेमौसम बारिश (Rain) और ओलावृष्टि  (Hail) के चलते किसानों (Farmers) की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है, हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने सर्वे करवाकर राहत राशि देने का ऐलान किया है और कई जिलों में आज रविवार को राशि भी पहुंचाई गई है।इसी बीच आज लॉकडाउन के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia)  समर्थक और शिवराज सरकार में जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट (Tulsi Silavat) सांवेर विधानसभा क्षेत्र के किसानों के खेतों में सर्वे करने पहुंचे।

यह भी पढ़े.. MP में 1322 नए कोरोना पॉजिटिव केस, CM ने जताई चिंता, सोमवार को होली पर फैसला

दरअसल, आज जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट (Water Resources Minister Tulsi Silavat) ने इंदौर(Indore) सांवेर विधानसभा क्षेत्र (Sanwer Assembly Constituency) के अनेक ग्रामों का भ्रमण किया। विगत दिनों हुई वर्षा, ओलावृष्टि और आँधी से गेहूँ और चना फसल (Crop) को हुए नुकसान को देखा। उन्होंने किसानों को विश्वास दिलाया हुए कहा कि फसलों का पूरा सर्वे कराया जायेगा, जितना भी नुकसान हुआ है, उसकी राहत दिलवाई जायेगी

इस दौरान मंत्री तुलसी सिलावट ने अपना भ्रमण ग्राम पिवड़ाय से शुरू किया। ग्राम कम्पेल, उण्डेल, सेमलिया रायमल का भ्रमण भी किया। सेमलिया रायमल गाँव में किसानों की कटी हुई लहसुन की फ़सल को हुई क्षति को भी देखा।  इसके पश्चात ग्राम सिवनी और डबल चौकी, नागपुर गाँव पहुँचे। तुलसी सिलावट ने यहाँ के किसानों से मुलाक़ात की। किसानों ने बताया कि हाल की ओलावृष्टि से गेहूँ की फ़सल को नुक़सान हुआ है।

यह भी पढ़े.. MP के वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद का हार्ट अटैक से निधन, पार्टी में शोक लहर

मंत्री सिलावट ने एसडीएम (SDM) ने बताया कि खुड़ेल तहसील के अन्तर्गत ग्राम पिवड़ाय, कम्पेल, पेडमी, तेल्याखेड़ी, भिंगारिया, सेमल्यारायमल, उण्डेल, खराडिया तथा खण्डेल में फसलों की नुकसानी प्रथम दृष्टया आंकलित की गई है।इस पूरे दौरे के दौरान खास बात ये रही कि तुलसी सिलावट ने ओलावृष्टि से क्षतिग्रस्त हुई फसलों को देखने के लिए मोटर साइकिल की भी सवारी की। सिलावट ग्राम पिवड़ाय में अपना क़ाफ़िला छोड़कर मोटर साइकिल पर बैठे। उन्होंने सकरी गलियों से होते हुए किसानों से मुलाकात की और उसकी समस्याओं को सुना।