यहां पुलिस ने की नाबालिग की पिटाई, परिजनों ने लगाए आरोप

In-the-case-of-illegal-sand-transport

इंदौर, आकाश धोलपुरे

जिले की महू तहसील में स्थित कोतवाली थाना पर एक नाबालिग लड़की को थाने में पुलिस द्वारा बर्बरता एवं पिटाई के आरोप लग रहे है।

दरअसल, कुछ दिनों पहले थाना क्षेत्र से ही एक लड़की अपने प्रेमी के साथ भाग गई थी। जिसकी शिकायत परिजनों ने कोतवाली थाना महू में की थी, जिसेक बाद पुलिस द्वारा भागने वाली लड़की की नाबालिग सहेली को उठाया गया और पूछताछ के नाम पर उसके साथ एक पुरुष और महिला पुलिस ने जमकर पिटाई की। जानकारी के मुताबिक भागने वाली लड़की हम्माल मोहल्ला में रहने वाली अपनी सहेली के यहां मिलने आई थी, जिसके बाद उसने सहेली व उसके परिजनों से कहा कि मुझे मेरे रिश्तेदार लेने आ रहे हैं मैं उनके साथ जा रही हूं।

इधर,  जब मामले में ये बात सामने आई कि वो लड़की किसी के साथ भाग गई है, इस पर भागने वाली लड़की के परिजनों ने महू थाने पर रिपोर्ट दर्ज करवाई और कहा कि हमारी लड़की सहेली के घर का जाने का बोल कर गई थी और तभी से गायब है।  जिसके बाद पुलिस ने हम्माल मोहल्ला निवासी नाबालिक लड़की को उसके घर से उठाया और रात करीब 11 बजे  तक उसे थाने में बिठा रखा।

कई घण्टो तक चली पूछताछ के दौरान महिला पुलिस एवं एक एएसआई द्वारा जमकर पिटाई भी की गई ये आरोप स्वयं नाबालिग लड़की ने लगाया। नाबालिग ने अपनी चोंट के निशान भी बताए और उसके साथ हुई बर्बरता और पिटाई की जानकारी मीडिया को दी। वही नाबालिग लड़की के परिजनों ने इस पूरे मामले शिकायत पुलिस के उच्च अधिकारियों से की है। हालांकि पुलिस मारपीट के आरोपों को सिरे से नकार रही है जबकि नाबालिग के हाथ और पैर में नीले निशान उभर आए है।

इधर, एएसपी महू अमित तोलानी ने बताया कि उन्हें एक आवेदन प्राप्त हुआ है और पुलिस को नाबालिग या बालिग किसी को भी पीटने का अधिकार नही और वे इस मामले की जांच करवा रहे है। फिलहाल, पुलिस पर लगे बर्बरता और नाबालिग से पिटाई के आरोपो में कितनी सच्चाई है ये तो जांच के बाद ही सामने आ पायेगा लेकिन ये भी उठ रहे है कि यदि थाने में नाबालिग के साथ मारपीट नही हुई है तो फिर उसके शरीर पर मारपीट के निशान कैसे आ गए ?

 

यहां पुलिस ने की नाबालिग की पिटाई, परिजनों ने लगाए आरोप