राहत भरी खबर: इंदौर पहुंची Amphotericin B इंजेक्शन की बड़ी खेप

दरअसल, ब्लैक फंगस का इंजेक्शन अभी तक 7000 रुपये मेँ आता था लेकिन हिमाचल प्रदेश के बद्दी में नई फार्मा कंपनी एफी(AFI फार्मा) ने जो इंजेक्शन बनाए हैं वह मात्र 300 रूपये कीमत के है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। .पोस्ट कोविड बीमारी के रूप में तेजी से उभरी ब्लैक फंगस(black fungus) ने इंदौर के कई कोरोना पॉजिटिव हो चुके मरीजों को अपनी जकड़ में ले लिया था। जिसके बाद इंदौर मैं ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश मेँ ब्लैक फंगस के उपचार के लिए ज़रूरी एम्फोटेरेसिन-बी(Amphotericin B) इंजेक्शन की मांग एक दम से भड़ गयी थी । इंजेक्शन की आपूर्ति के लिए केंद्र और राज्य सरकार निरंतर प्रयासरत थे । इसी कड़ी मेँ आज का दिन इंदौर शहर के लिए बड़ी राहत वाला रहा उसकी वजह थी, इंदौर में ब्लैक फंगस के इलाज में कारगर एम्फोटेरेसिन-बी(Amphotericin B) इंजेक्शन की बड़ी खेप का पहुंचना ।

नगरीय निकाय चुनाव से पहले निकायों में होगी भर्ती प्रक्रिया, संविदा नियुक्ति को लेकर नियम तय

आपको बता दें कि एम्फोटेरेसिन-बी(Amphotericin B) इंजेक्शन की यह खेप इंदौर विमानतल(airport) पर मशहूर उद्दोगपति संजीव गोयनका के निजी विमान से आज सुबह पहुंची। इंजेक्शन को लेने एयरपोर्ट पर संभागायुक्त श्री पवन शर्मा और एकेवीएन एमडी श्री रोहन सक्सेना पहुंचे। इंजेक्शन का वितरण सरकारी नियम अनुसार अधिकारी ही करेंगे। वहीं कैबिनेट मंत्री श्री तुलसी सिलावट ने भी मौके पर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

RBI का हॉस्पिटैलिटी सेक्टर को तोहफा, मुख्य दरों में भी बदलाव नहीं।

मिली जानकारी ले मुताबिक उद्दोगपति संजीव गोयनका के निजी विमान से ब्लैक फंगस उपचार में लगने वाले जो 12240 इंजेक्शन आज इंदौर आए उनकी कीमत भी काफी काम बताई जा रही है। दरअसल, ब्लैक फंगस का इंजेक्शन अभी तक 7000 रुपये मेँ आता था लेकिन हिमाचल प्रदेश के बद्दी में नई फार्मा कंपनी एफी(AFI फार्मा) ने जो इंजेक्शन बनाए हैं वह मात्र 300 रूपये कीमत के है।इंजेक्शनों का वितरण विभिन्न चरणों मेँ किया जाना है जिसमें अनुसार पहले चरण में इंदौर को 25000 इंजेक्शन मिलने थे जिसमें से आधे आज पहुंच गए और बचे हुए अगले हफ्ते मेँ आएंगे।यह जानकारी भी सामने आई है कि आज जो इंजेक्शन इंदौर को मिले हैं उनमें से 7000 निजी अस्पतालों को और 5000 सरकारी अस्पतालों को दिए जाने हैं।

फिलहाल, इंदौर में ब्लैक फंगस बीमारी से सैंकड़ो मरीज जूझ रहे है पर इस खेप के आने से अब शहर के अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में एम्फोटेरेसिन – बी इंजेक्शन होगये गए है जो एक बड़ी राहत की बात है, लिहाजा, उम्मीद की जा सकती है कि इस कदम से बड़ी संख्या में लोगो की जिंदगी बचाई जा सकेगी ।