सज्जन सिंह वर्मा का बीजेपी पर निशाना, इन मुद्दों को लेकर सरकार पर उठाए सवाल

उन्होने मेडिकल पढ़ाई के दौरान पंडित दीनदयाल और हेडगेवार के विषय को पढ़ाई के लिए थोपे जाने पर सवाल भी उठाया। इतना ही नही आरएसएस और तालिबान की तुलना पर भी उन्होंने जोरदार कटाक्ष किया।

sajjan singh verma

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मप्र (MP) के पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक (Congress MLA) सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) ने इंदौर (Indore) में मीडिया से बात कर केंद्र व राज्य सरकार, बीजेपी (BJP) और आरएसएस (RSS) पर निशाना साधा है। उन्होने मेडिकल पढ़ाई के दौरान पंडित दीनदयाल और हेडगेवार के विषय को पढ़ाई के लिए थोपे जाने पर सवाल भी उठाया। इतना ही नही आरएसएस और तालिबान की तुलना पर भी उन्होंने जोरदार कटाक्ष किया।

यह भी पढ़ें…प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना शौच मुक्त गांव में जंगलों में जाने को मजबूर ‘लोटा महिला टोली’, जानें मामला

मेडिकल स्टूडेंट्स को दीनदयाल और हेडगेवार को पढ़ना कितना उचित ?

पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि मेडिकल छात्रों को कोर्स में दीनदयाल उपाध्याय और हेडगेवार का जीवन चरित्र पढ़ाया जाएगा। वही उन्होंने कहा कि कितने मूर्ख है बीजेपी के लोग कि मध्यप्रदेश में व्यापम घोटाला (vyapam scam) हुआ उसमें जो अच्छा बच्चा था जिसका मेडिकल में सिलेक्शन हो सकता था और डॉक्टर देवदूत होता है पर व्यापम के भ्रष्टाचार के दौरान उस समय डॉक्टर यमदूत बन गये थे। वहीं उन्होंने सवाल उठाया कि अब क्या ऑपरेशन टेबल पर मेडिकल छात्र, दीनदयाल और हेडगेवार की किताबो को रखकर ऑपरेशन करेंगे। बीजेपी, आरएसएस की विचारधारा थोपने के लिए इस देश को कई बार बांट सकती है और एक दिन ऐसा आएगा कि मेडिकल छात्र इनके खिलाफ क्रांति खड़ी करेगा और कहेगा कि हम एनाटॉमी, ह्रदयरोग, हड्डी रोग और कैंसर रोग पढ़ना चाहते है और स्वतंत्रता संग्राम के आंदोलन में जिनका कोई वजूद नही रहा उनका इतिहास पढ़ाकर क्या मेडिकल छात्रों की पढ़ाई का सर्वनाश करना चाहते हो।

वहीं जावेद अख्तर द्वारा आरएसएस की तुलना तालिबान से करने के सवाल पर वर्मा ने कहा कि एक लेखक, चिंतक, विचारक और एक राजनेता के विचार अलग हो सकते है। उन्होंने फिर से उस बात को दोहराते हुए कहा कि मेडिकल स्टूडेंट्स को दीनदयाल और हेडगेवार की बात पढ़ाएंगे ! ये बात इतिहास के स्टूडेंट्स को पढ़ाई जा सकती है लेकिन तालिबान जिस तरह अपनी विचारधारा अफगानिस्तान के असहाय लोगो पर थोप रही है वैसै ही आरएसएस मेडिकल स्टूडेंट्स और कई तबकों पर अपनी विचारधारा थोप देना चाहती है। ऐसे में कई विषयों में तुलना हो सकती है और कई विषयों में अच्छा काम है तो अच्छी तुलना हो सकती है।

यह भी पढ़ें…सूखे से जूझते लोगों ने लिया टोटकों का सहारा: कुप्रथा में जकड़े लोगों ने दिखाई अमानवीयता, जानें पूरा मामला

महंगाई पर बोले
इधर, महंगाई को लेकर कांग्रेस द्वारा जारी किए डाक टिकिटो पर पूर्व मंत्री ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पीठ थपथपाई और कहा कि आम जनता का सरकार तक अपना संदेश पहुंचाने का एक बेहतर माध्यम डाक टिकिट बनेंगे। इसके अलावा उन्होंने एक बाद फिर बढ़ती महंगाई को लेकर केंद्र पर सवाल उठाने के साथ ही कहा कि पीएम मोदी अंबानी और अडानी के जरिये देश को बेच रहे है अभी 17 सरकारी संस्थाएं बिकने की तैयारी हो चुकी है इसे लेकर भी वर्मा ने केंद्र पर हमला बोला।

महंगाई को लेकर बीजेपी द्वारा कांग्रेस को जिम्मेदार बताने को लेकर पूर्व मंत्री वर्मा ने कहा कि बीजेपी वालो के घर मे अच्छा या बुरा भी हो जाये तो भी कांग्रेस का नाम ही आता है कि कांग्रेस इसके पीछे दोषी है। वही मंत्री विश्वास सांरग को घेरते हुए वर्मा ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान को एक अच्छा व्यक्ति मिला वो पता नही कहा से सिंधु घाटी की सभ्यता से ये खोजकर लाये की सन 1947 में जवाहरलाल नेहरू ने जो भाषण दिया था देश मे महंगाई उसके कारण बढ़ रही है।

इधर, इंदौर सहित प्रदेश में बढ़ते अपराधों को लेकर पूर्व मंत्री सज्जन सिंह ने कहा कि सीएम की बातों पर अब आईएएस और आईपीएस अधिकारी अमल नही करते है और वे एक कान से उनकी घोषणाओं को सुनकर दूसरे कान से निकाल देते है न कि उन पर अमल करते है वही सीएम भी बोलकर भूल जाते है लिहाजा, स्थितियां बिगड़ना स्वभाविक है।