इंदौर में एसटीएफ ने रिटायर्ड पटवारी को किया गिरफ्तार, ये है वजह

इंदौर एसटीएफ एसपी मनीष खत्री ने बताया कि रिटायर्ड पटवारी किशोर सोनी ने फर्जी तरीके से जमीम नामांतरण करने संबंधी अपराध किया गया, जिसके बाद पुलिस ने उसे आज गिरफ्तार किया है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में प्रशासनिक सेवाएं प्रदान करने वाले अधिकारियों के फर्जीवाड़े के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। ऐसे ही एक मामले में जमीन की धोखाधड़ी करने वाले रिटायर्ड पटवारी (Patwari) को इंदौर एसटीएफ (Indore STF) ने गिरफ्तार किया गया है। अब गिरफ्तार पटवारी से एसटीएफ द्वारा पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें…Morena : यातायात पुलिस ने रोको टोको अभियान में निःशुल्क मास्क किये वितरित

दरअसल, इंदौर एसटीएफ द्वारा महू स्थित गोल्डन फॉरेस्ट इंडिया लिमिटेड द्वारा क्रय की गई भूमि के खसरों में फर्जी नाम अंकित करने वाले फरार रिटायर्ड पटवारी किशोर सोनी को आज एसटीएफ की टीम ने महू से गिरफ्तार किया गया है। रिटायर्ड पटवारी पर ग्राम पानंदा तहसील महू स्थित भूमि का नामांतरण कर, धोखाधड़ी पूर्वक भूमि को बेचने और नामांतरण करने की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया था।

इस पूरे मामले में पहले भी कई आरोपियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। लेकिन रिटायर्ड पटवारी लगातार फरार चल रहा था। जिसकी तलाश कई दिनों से की जा रही थी। इधर एसटीएफ ने मुखबिर की सूचना के आधार पर मुख्य आरोपी किशोर सोनी को गिरफ्तार कर लिया है और अब उससे पूछताछ की जा रही है। इंदौर एसटीएफ एसपी मनीष खत्री ने बताया कि रिटायर्ड पटवारी किशोर सोनी ने फर्जी तरीके से जमीम नामांतरण करने संबंधी अपराध किया गया है जबकि न्यायालय द्वारा गोल्डन फारेस्ट इंडिया की जमीन के नामांतरण से लेकर अन्य प्रकिया पर रोक लगा रखी है। बता दे कि आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया है।

https://vimeo.com/575784626

यह भी पढ़ें…मानसिक रूप से विक्षिप्त युवती के रेप के मामले में हुआ बड़ा खुलासा, एक आरोपी गिरफ्तार, इस तरह दिया था वारदात को अंजाम !